जो मुस्लिम बना था IAS, अब इस्तीफा देकर धमकी दे रहा है भारत सरकार को

उस मुस्लिम युवक ने IAS टॉप किया तो लगा कि शायद ये युवा उन मुस्लिम युवाओं को मुख्यधारा में लाने के लिए नई प्रेरणा बनेगा जो मजहबी कट्टरपंथियों के बहकावे में आकार सेना पर पत्थर फेंकते हैं, अपने ही देश के खिलाफ हथियार उठाते हैं. देश के लगभग सभी वर्गों ने यही उम्मीद जताई थी ये युवा मुस्लिम समाज के बीच नई क्रान्ति लाएगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ तथा अब यही मुस्लिम युवक इस्तीफा देकर भारत सरकार को धमी दे रहा है.

हम बात कर रहे हैं आईएएस की नौकरी छोड़ राजनीति में आए शाह फैसल की. आईएएस की नौकरी छोड़ राजनीति में आए शाह फैसल ने आर्टिकल 370 को लेकर भड़काऊ बयान दिया है. फैसल ने जम्मू-कश्मीर के लोगों को भड़काने का प्रयास करते हुए कहा है कि वे तब तक ईद नहीं मनाएँगे जब तक इस बेइज्जती का बदला नहीं ले लेते. 370 हटने के बाद बौखलाए फैसल ने कहा है कि वे तब तक ईद नहीं मनाएँगे जब तक आर्टिकल 370 के प्रावधानों को निरस्त करने और जम्मू-कश्मीर को दो केन्द्रशासित प्रदेशों में बॉंटने के फैसले से हुई ‘पीड़ा’ का बदला नहीं ले लेते हैं.

शाह फैसल ने ट्वीट कर कहा है, “कैसी ईद. दुनिया भर के कश्मीरी अपनी जमीन पर अवैध कब्जे का शोक मना रहे हैं. तब तक कोई ईद नहीं मनेगी जब तक 1947 से हमसे छीनी गई हर चीज वापस नहीं ले ली जाती. जब तक हर अपमान का बदला पूरा नहीं होता ईद नहीं मनेगी.” ज्ञात हो कि 5 अगस्त को मोदी सरकार ने कश्मीर से धारा 370 हटा दी थी. मोदी सरकार के इस फैसले के बाद मजहबी तुष्टीकरण की राजनीति करने वाले तथा पाकपरस्त लोग भड़के हुए हैं तथा धमकियां दे रहे हैं.

Share This Post