किस से कहा इमरान ने कि- बॉर्डर पर मत जाना वरना मार देगी भारत की फौज ?


कट्टरपंथी जिहादी इस्लामिक मौलाना की तरह भारत के खिलाफ यूएन तक में जहर उगल रहे आतंकी मुल्क पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पायजामा अब भारतीय सेना की रौद्र रूपी तैयारी को देखकर गीला होने लगा है. कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से कई बार भारत को परमाणु युद्ध की धमकी देने वाले इमरान ने यूएन में भी जिहाद का नारा देते हुए भारत के खिलाफ बंदूक उठाने और परमाणु हमले की बात कही लेकिन अब इमरान का पायजामा गीला होने लगा है.

अब पाकिस्तान के जिहादी पीएम इमरान खान कह रहे हैं कि अगर कोई भी एलओसी पर गया तो भारत को हम पर हमला करने का मौका मिल जायेगा. ये वही जिदाही इमरान खान हैं जिन्होंने मुजफ्फारबाद की रैली में इकट्ठे किये भाड़े की भीड़ से कहा था कि एलओसी तोड़ दो और हमला करके भारत के कब्जे वाले कश्मीर को आजाद करा दो. जिहादी इमरान का अगले ही दिन बयान आया था कि अभी एलओसी पर मत जाना मैं बताऊंगा तब एलओसी को तोड़ना है।

इसके बाद जानकारी मिली थी कि जिहादी इमरान की जिहादी फौज ने बॉर्डर से 10-12 किलोमीटर पीछे गांव में लाखों लोगों को सिर्फ इसलिए इकट्ठा किया था कि 4 अक्टूबर को एलओसी तोड़कर भारत वाले हिस्से पर कब्जा करना था. इमरान की चाल थी कि भाड़े की भीड़ को आगे करके भारतीय फौज को भरमाया जायेगा और पीछे पाकिस्तानी आर्मी  कश्मीर पर हमला कर देगी. लेकिन जिहादी इमरान की जिहादी फौज का कारनामा भारतीय सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों ने फेल कर दिया.

भारतीय फौज की प्रलयंकर रूपी तैयारी देख पाकिस्तान के जिहादी इमरान खान को ट्वीट करना पड़ा कि अगर कोई भी शख्स एलओसी पार करेगा तो भारत इस्लामिक टेररिज्म का इल्जाम पाकिस्तान पर लगा देगा और कश्मीरियों(अलगाववादी) पर जुल्म बढ़ा देगा, इतना ही नहीं भारत को पीओके (गुलाम कश्मीर) पर हमला करने का मौका मिल जायेगा. दरअसल भारतीय सेना नियंत्रण रेखा पर पाक के हर कदम का करारा जवाब दे रही है. ऐसे में पाकिस्तानी मंसूबे कामयाब होते नहीं दिख रहे हैं जिससे पाक घुसपैठिए बौखलाए हुए हैं. जम्मू और कश्मीर से संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के आज दो महीने हो गए हैं. घाटी में धीरे-धीरे हालात सामान्य हो रहे हैं.

 

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share