Breaking News:

ताश के पत्ते की तरह ढह रही है कांग्रेस मेघालय में… मंत्री के ही खिलाफ केस हुआ दर्ज

 मेघालय में कांग्रेस पर मुसीबतों के पहाड़ कम होने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस से विधायकों के ताबड़तोड़ इस्तीफे बाद सीबीआई ने पीडब्ल्यूडी मंत्री अंपरीन लिंगदोह और राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी एस थांगखिव के खिलाफ शिक्षकों की नियुक्ति के मामलों में कथित गड़बड़ी को लेकर मामला दर्ज किया है। वर्ष 2008-09 में शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया के दौरान अंकपत्र में हेरफेर करने मामला सामने आया है।

सीबीआई के अधिकारी ने बताया कि एजेंसी ने मेघालय हाईकोर्ट के आदेश पर यह कार्रवाई की है।

पुलिस ने शिक्षा मंत्री रहे लिंगदोह और शिक्षा विभाग के तत्कालीन प्रधान सचिव और 1984 बैच के आईएएस अधिकारी के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने, धोखाधड़ी और अन्य आरोपों के मामले में आईपीसी की विभिन्न धाराओं के अनुसार मामला दर्ज किया है। बता दें कि मेघालय में इसी वर्ष विधानसभा चुनाव होना है और कांग्रेस की हार अभी तय मानी जा रही है।

सीबीआई ने प्राथमिक एवं जन शिक्षा विभाग के निदेशालय एवं अज्ञात लोगों को भी दोषी ठहराया है । मेघालय हाईकोर्ट ने दो नवंबर, 2017 को इस गड़बड़ी की खोजबीन करने के लिए सीबीआई को राज्य पुलिस के बदले अपने हाथ में लेने का निर्देश दिया था। लिंगदोह ने उस समय प्राथमिक और जन शिक्षा की निदेशक जे डी संगमा और उनकी दो समर्थकों को अंकपत्र में छेड़छाड़ करने और उसके साथ धोखाधड़ी करने के आरोप में सम्लित पाया था।

मेघालय में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक में भूचाल उठना तिब्र हो गया है। कांग्रेस और अन्य दलों के 4 विधायकों ने आगामी चुनावो के नतीजों को जानते हुए बीजेपी की सरण में आसरा ले लिया है। इन विधायको ने विधानसभा से पहले ही अपना इस्तीफा दे दिया है । बीजेपी के वरिष्ठ नेत राम माधव ने इसे राज्य में हो रहे बदलाव की दिशा बताया है। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक ए एल हेक पहले ही बीजेपी में शामिल होने का ऐलान कर चुके है । साथ ही यूडीएफ से एक तथा अन्य दो निर्दलीय विधायकों ने भी बीजेपी के ही सहयोगी दल नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) में शामिल होने का ऐलान किया है।

Share This Post