बांग्लादेश की पीएम की मौजूदगी में ही पीएम मोदी ने आंतकवाद पर पाक को सुनाई खूब खरी-खोटी

नई दिल्ली : 1971 युद्ध में शहीद हुए भारतयी जवानों के परिवारों के सम्मान समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत दौरे पर आईं बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना की मौजूदगी में आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को जमकर खरी-खोटी सुनाई। पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना ही कहा कि भारत सभी पड़ोसी देशों से अच्छे रिश्ते चाहता है। लेकिन कुछ देश हैं जिसे मानवता की राह पसंद नहीं है।

शहीदों के सम्मान में पीएम मोदी ने कहा कि आज एक विशेष दिन है। आज भारत और बांग्लादेश के शहीदों के प्राण बलिदान को स्मरण करने का दिन है। बांग्लादेश स्वतंत्रता संग्राम में शहीद हुए सभी भारतीय सैनिकों के परिवारों के लिए ये कभी न भूल पाने वाला क्षण है। यह मेरा परम सौभाग्य है कि इस समय 7 भारतीय शहीदों के परिवार यहां उपस्थित हैं। भारतीय सैनिकों के बलिदानों के लिए मैं और पूरा देश सभी शहीदों को कोटि-कोटि नमन करते हैं।  

पाक पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि वह आतंकवाद को पोषित करने के साथ उसे प्रेरित एवं प्रोत्साहित करता है। इस सोच की प्राथमिकता मानवता नहीं बल्कि कट्टरपंथ और आतंकवाद है। पीएम मोदी ने कहा कि दुख की बात है कि दक्षिण एशिया में एक ऐसी सोच है जो कि आतंकवाद की प्रेरणा और उसकी पोषक है। एक ऐसी सोची जिसका वैल्यू सिस्टम मानवता पर नहीं, अपितु हिंसा और आतंकवाद पर आधारित है। जिसका मूल मकसद है आतंकियों द्वारा आतंक फैलाना।

इसके आगे पीएम मोदी ने कहा कि यह एक ऐसी सोच है, जिसके नीति-निर्माताओं को मानवतावाद से बड़ा आतंकवाद लगता है। विकास से बड़ा विनाश लगता है। सृजन से बड़ा संहार लगता है। विश्वास से बड़ा विश्वासघात लगता है। यह सोच पूरे इलाके के विकास में अवरोध है और भारत-बांग्लादेश इसके विक्टिम हैं। उन्होंने कहा कि भारत सदैव एक प्रबल और विश्वसनीय मित्र की तरह हर घड़ी बांग्लादेश की हर सहायता के लिए तैयार है और रहेगा। भारत और बांग्लादेश इसलिए साथ हैं, क्योंकि दोनों देशों के 140 करोड़ लोग दुख-सुख के साथी हैं।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW