Breaking News:

जानिए कश्मीर मुद्दे पर भारत ने दुनिया के सामने कौनसा मजबूत पक्ष रखा…

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद पड़ोसी देश पाकिस्तान पुरे तरीके से बौखला गया है. पाक अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहा है कश्मीर घाटी में लगातार अशांति फ़ैलाने का और इस काम में पाकिस्तान का साथ पीठ-पीछे चीन दे रहा है. भारत को रोकने के लिए पाकिस्तान चीन की मदद ले रहा है. लेकिन इन सब के बावजूद भी पाकिस्तान को नाकामी ही हाथ लग रही है. कल जम्मू कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बैठक भी हुई जिसमें भारत को रोकने की सभी कोशिशों में पाकिस्तान और चीन विफल रहे.

कल शाम को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बंद कमरे में बैठक आयोजित की गई थी. जिसमें परिषद के 5 स्थायी सदस्य और 10 अस्थायी सदस्य शामिल हुए थे. इस इमरजेंसी बैठक में हुई चर्चा में परिषद में भारत के स्थायी राजदूत सैयद अकबरुद्दीन ने विस्तार से अपना पक्ष रखा. इसके साथ ही पाकिस्तान को भी करारा जवाब दिया.

भारत ने दुनिया के सामने रखा अपना मजबूत पक्ष और भारत के तरफ से सैयद अकबरुद्दीन ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि यह धारा 370 भारत का आंतरिक मामला है, ये कोई अंतरराष्ट्रीय मामला नहीं है. इस मसले पर बाहरी दखलंदाजी की कोई गुंजाईश नहीं होनी चाहिए.. बाहर के लोगों का इस फैसले से कोई मतलब नहीं है.

कश्मीर से धारा 370 हटाना वहां के लोगों के भले के लिए किया गया है। इससे वहां का सामाजिक और आर्थिक विकास होगा. कश्मीर से जुड़े सभी मुद्दों को शांतिपूर्ण ढंग से हल करने की योजना है.

कश्मीर का इतिहास दुनिया को पता है, हिंसा किसी भी तरह के मसले का हल नहीं है. इसके अलावा  यह भी कहा कि हम जानते हैं कि हमें अपने लोगों का खयाल कैसे रखना है. हम अपने स्टैंड पर शुरू से ही क्लियर रहे हैं.

हम कश्मीर से धीरे-धीरे सभी प्रतिबंध हटाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम जानते हैं कि कुछ ऐसे लोग हैं जो कश्मीर को लेकर भ्रांतियां फैला रहे हैं जो वास्तविकता से काफी दूर है. चिंता का विषय ये है कि एक देश ऐसा है जो यहां अपने नेताओं के जरिए जिहाद फैला रहा है और साथ ही हिंसा भी फैला रहा है.

Share This Post