किसी मिसाइल में दम नहीं कि वो अब भेद सके भारत की सीमा रेखा.. संसार की चौथी महाशक्ति बना भारत

भारत ने स्वदेशी रुप से विकसित एडवांस्ड एयर डिफेंस एएडी सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल का ओडिशा के एक परीक्षण केंद्र से आज सफल परीक्षण किया.हमला करने के लिए तेजी से आती मिसाइल को जमीन से दूसरी मिसाइल दागकर नष्ट कर दिया गया है.आज भारत के लिए गौरवान्वित होने का मौका है.आपको बता दे की एयर डिफेंस सिस्टम का यह नौवां टेस्ट था, आज जिस व्हीलर आईलैंड से इंटरसेप्टर मिसाइल को दागा गया है उसने धरती की सतह से लगभग 15 किलोमीटर ऊपर ही बंगाल की खाड़ी में ‘हमला करने आती’ मिसाइल को तबाह कर दिया.ऐसा करने वाला वह दुनिया का चौथा देश बन चूका है.रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, भारत ने अंतरिक्ष युद्ध की परिकल्पना जैसी उप प्रणाली का सफल परीक्षण किया, जिसमें दुश्मन की मिसाइल को अपनी मिसाइल के जरिए हमला करने के पहले ही तबाह कर दिया जा सकता है.

भारत ने स्वदेशी रूप से विकसित ‘एडवांस्ड एअर डिफेंस’ सुपरसोनिक इंटरसेप्टर मिसाइल का ओडिशा के व्हीलर आइलैंड से गुरुवार को सफल परीक्षण किया.यह मिसाइल बेहद कम ऊंचाई से आने वाली किसी भी बैलिस्टिक मिसाइल को बीच में ही मार गिराने में सक्षम है.इस साल किया गया यह तीसरा सुपरसोनिक इंटरसेप्टर परीक्षण है, जिसमें सामने से आ रही बैलिस्टिक मिसाइल को धरती के वातावरण के 30 किलोमीटर की ऊंचाई के दायरे में सफलतापूर्वक निशाना बनाकर उसे नष्ट किया गया है.

-इस मिसाइल को डिफेंस रिचर्स एंड डिजाइन ऑर्गनाइजेशन (DRDO) की ओर से बनाया गया है.
-मिसाइल की लंबाई 7.5 मीटर है.
-ये सिंगल स्टेाज रॉकेल प्रॉपेल गाइडेड मिसाइल है.
-यह मिसाइल हाई-टेक कंप्यूटर और इलेक्ट्रो-मेकैनिकल एक्टीवेटर वाली दिशा निर्देशन प्रणाली से लैस है.
-इस अत्याधुनिक मिसाइल का अपना खुद का मोबाइल लांचर है.
-यह दुश्मन मिसाइल को निशाना बनाने के लिए सुरक्षित डेटा लिंक, आधुनिक राडार और अन्य तकनीकी एवं प्रौद्योगिकी विशिष्टताओं से युक्त है.

Share This Post