पुलवामा आतंकी हमले में 42 जवानों के बलिदान से आक्रोशित हुआ राष्ट्र.. मांग रहा एक और सर्जिकल स्ट्राइक

कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिले पर इस्लामिक आतंकी दल जैश ए मोहम्मद के हमले में 42 जवानों के बलिदान के बाद राष्ट्र आक्रोशित हो उठा है तथा एक और सर्जिकल स्ट्राइक की मांग कर रहा है. पूरे देश से एक सुर में एक ही आवाज उठ रही है कि भारतीय सेना के अमर जवानों के बलिदान का बदला लिया जाना चाहिए, ऐसा बदला लिया जाना चाहिए कि इससे आतंकी तथा आतंकी मुल्क पाकिस्तान दोबारा ऐसी हिमाकत न कर सकें.

ज्ञात हो कि म्मू से श्रीनगर जा रही सीआरपीएफ की 70 गाड़ियों के काफिले पर कश्मीर के पुलवामा में जैश ए मोहम्मद के आतंकियों ने हमला किया था. सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक, इस हमले में 42 जवान बलिदान हो गये हैं तथा 50 के करीब घायल हैं, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. हालांकि इसकी अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. इस आतंकी हमले के बाद जहाँ विपक्ष ने राजनीति शुरू कर दी है तो वहीं हिंदुस्तान इसका बदला चाहता है. हिंदुस्तान से एक ही आवाज आ रही है कि भारत! तुम रुको मत बल्कि भारतमाता के जिन सपूतों ने इस देश को बचाने के लिए अपनी जान दी है, उसको व्यर्थ मत जाने दो तथा आतंकियों तथा उनके आकाओं को सबक सिखाओ.

आतंकियों के बलिदान के बाद आज हिंदुस्तान भारत सरकार तथा प्रधानमन्त्री मोदी से एक ही अपील कर रहा है कि अब समय चुप बैठने का नहीं है बल्कि आतंकियों को नेस्तनाबूद करने का है. उरी के बाद सर्जिकल स्ट्राइक की गई थी लेकिन इससे आतंक रुका नहीं है तथा लगातार भारतीय सेना के जवानों ने बलिदान दिया है, ऐसे में अब आतंकियों से उस तरह से बदला लेना चाहिए, जिस तरह से इजराइल लेता है, अमेरिका लेता है, रूस लेता है. मोदी सरकार को अब तो उस बात को समझना ही होगा कि अब घाटी में शांति के श्वेत कबूतर नहीं उड़ाने हैं बल्कि एक क्रांति की जरूरत है तथा हर उस कोख को बांझ कर देना है जो आतंक को जन्म देती है.

Share This Post