सेना की बन्दूकों ने गरज कर कश्मीर में कायम की शांति.. जैश के 4 और हिजबुल का 1 आतंकी सदा के लिए खामोश

आतंकियों के खिलाफ जिस कार्यवाही की मांग भारत की अधिकांश जनता कर रही थी आख़िरकार सेना ठीक वही कार्य संविधान और कानून के दायरे में कर रही है . भारत की सैन्य शक्ति से टकराने के लिए तमाम गद्दारों ने अपने अपने हिसाब से सपने देखे और उन्हें आख़िरकार भेज दिया गया उनके अंजाम तक . कश्मीर में एक बार फिर से भारत की सेना की बन्दूको ने गरज कर स्थापित की है शांति और खामोश हो गये 5 और गद्दार .

विदित हो कि भारत की सेना द्वारा काफी समय से वांछित चल रहा हिजबुल आतंकी आख़िरकार चढ़ ही गया फौजियों के हाथ . जुम्मे के दिन अर्थात शुक्रवार को जम्मू और कश्मीर में पुलवामा जिले के अवंतिपुरा इलाके में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल का दुर्दांत आतंकवादी मारा गया था. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने अवंतिपुरा के बांदेरपुरा-रिंजीपुरा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना मिलने के बाद शुक्रवार को सुबह इलाके की घेराबंदी की और तलाश अभियान चलाया था.

आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों के खोज दल पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई. सेना ने अंतिम समय तक आतंकी  को हथियार डालने का मौक़ा दिया पर उसने गोलियां चलानी जारी रखी . सैन्य सूत्रों के बाद में बताया कि कुछ समय चली इस मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर हो गया. उन्होंने बताया कि मृत आतंकवादी की पहचान दक्षिण कश्मीर में पुलवामा के कोइल इलाके के इश्फाक यूसुफ वानी के रूप में हुई. वह आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी था.

वहीँ दूसरी तरफ जम्‍मू और कश्‍मीर के पुलवामा में शनिवार सुबह सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई. यह मुठभेड़ पुलवामा के राजपोरा में हुई. इस मुठभेड़ में सुरक्षा बलों को इस दौरान बड़ी सफलता मिली है. मुठभेड़ में एक लम्बी चली लड़ाई के बाद सुरक्षा बलों ने 4 कुख्यात आतंकियों को मार गिराया है . सुरक्षा बलों को इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सटीक सूचना मिली थी जिसके बाद सुरक्षा बलों ने आतंकियों की तलाश में अभियान शुरू किया. इसी दौरान आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच गोलीबारी शुरू हो गई. इस बार भी आतंकियों को हथियार डालने का पूरा मौक़ा दिया गया लेकिन उन्होंने इसको अस्वीकार करते हुए गोलियां बरसानी जारी रखी . जिसके बाद सैनिको ने उन सभी को मार गिराया . आतंकियों के शवों को बरामद कर लिया गया है. ये सभी आतंकी जैश-ए-मोहम्‍मद के थे. सुरक्षा बलों ने बड़ी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किया है.

 

Share This Post