भारतीयों के दिन की शानदार शुरुआत.. सेना ने सदा के लिए खामोश किया 3 दुर्दांत आतंकियों को, बाकी अन्य को घेरा


भारत की सेना के जांबाज़ सैनिको ने एक बार फिर से देशो को निर्भयता का संदेश देते हुए राष्ट्र के लिए आफत बनने की चाह रखने वाले 3 गद्दार इस्लामिक आतंकियों को आख़िरकार मौत के घाट उतार दिया है और राष्ट्र को संदेश दिया है कि वो अपने घरो में सुरक्षित हैं . आतंकियों ने अपने नापाक मंसूबों को ले कर अंतिम सांस ली है जिनकी लाशो को बरामद कर लिया गया है और आगे की कार्यवाही भारत के विधि सम्मत रूप में की जा रही है . ये वो नापाक निगाहें थी जो भारत की तरफ उठी थीं और अब बंद कर दी गयी .

जिसे मासूम शॉल बेचने वाला कश्मीरी देखा जाता था वही निकला हमारे CRPF वीरों का असल हत्यारा.. उसने ही तैयार किया था मौत का सामान

ताज़ा जानकारी के अनुसार ये मुठभेड़ कश्मीर के शोपियां में हुई है जहाँ पर यारवन क्षेत्र के केल्लार में आतंकियों की सटीक सूचना मिलते ही फ़ौज की टुकडियो ने घेरा डाला.. इस अभियान को प्रमुखता से अंजाम दिया है 23 पैरा बटालियन ने..  बाद में इस अभियान में CRPF और जम्मू कश्मीर पुलिस ने भी मोर्चा सम्भाल लिया .. दोनों तरफ से भयानक गोलीबारी शुरू हुई और आतंकियों को सरेंडर करने का मौका दिया गया . लेकिन उन्होंने गोलियां बरसानी जारी रखी जिसका सेना ने माकूल जवाब दिया .

क्या है “बनात उल इस्लाम” . जिसका नारा है “पाकिस्तान में जाएंगे , वहां से बच्चे लाएंगे”

अब तक मिली जानकारी के अनुसार तीन आतंकियों की लाशें बरामद कर ली गयी हैं और इलाके को घेर लिया गया है . सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है .. इलाके में धारा 144 लगा दी गयी है और हंदवाडा में लडको और लडकियों के सरकारी कालेज को बंद कर दिया गया है . पत्थरबाजी आदि की घटनाओं को रोकने के लिए CRPF की अतिरिक्त टुकडियां भेजी जा रही हैं . अभी तक एक आतंकी की पहिचान हुई है जो स्थानीय बताया जा रहा है . अभी और आतंकियों के भी घिरे होने की सम्भावना है ..

3 मार्च- विदशों से क्रांति की ज्वाला दहकाते वीर लाला हरदयाल को आज ही दिया गया था जहर.. उस हार्डिंग पर बम फेंका था जिसे अहिंसा के कई कथित पुजारी कहते थे “लार्ड”

भारत की सेना के इस अभियान के बाद पूरे देश में ख़ुशी की लहर है और सभी बचे हुए नापाक गद्दारों के सफाए की मांग कर रहे हैं .  इसी के साथ ही कश्मीर के आंतकियो को फ़ौज का साफ संदेश मिल चुका है कि यदि उन्होंने देश के खिलाफ हथियार उठाया तो उनको ऐसे ही अंजाम देखने को मिलेंगे . पिछले कुछ समय में न सिर्फ पाकिस्तान पर घातक वार किया गया है बल्कि भारत के ही अन्दर के तमाम आतंकियों या आतंक प्रेमियों को ठिकाने लगाया गया है .

जो कैमरे होने चाहिए नक्सलियों और आतंकियों पर वो लगा रखे हैं पुलिस वालों पर.. फिर कहते हैं कि समाज सुरक्षित क्यों नही ?


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share