इधर देश चुन रहा भारत भाग्य विधाता उधर सेना ने कश्मीर में खामोश किया लश्कर के 2 दुर्दांत इस्लामिक आतंकियों को

एक तरफ देश लोकतंत्र के महापर्व में अपने हाथो से अपना भाग्य विधाता चुन रहा है और ऐसी सरकार लाने के लिए लाइनों में खड़ा है जो उसको और उसकी आने वाली पीढ़ी को शांति और सुरक्षा का विश्वास दिला सके तो वहीँ कश्मीर में सेना वो कार्य कर रही है जो भारत वालों को अपने कर्तव्य के लिए प्रेरित कर रही है .. कश्मीर में भारत की चौकन्नी सेना ने एक बार फिर से दिखाया है अपना रौद्र रूप और उसके चलते ही मिली है ऐसी खबर जिसने मुस्कराहट ला दी तमाम चेहरों पर .

विदित हो कि देशवासियों को सुबह तब खुशखबरी मिली जब भारत की फ़ौज ने कश्मीर के शोपियां में इस्लामिक आतंकी संगठन लश्कर ए तोइबा के २ दुर्दांत आंतकियो को ढेर कर दिया है . सेना को शोपियां क्षेत्र के गाँव सतीपुरा में २ से ३ आतंकियों की सूचना मिली जिसके बाद फ़ौज की एक टुकड़ी ने गाँव को घेर लिया .. आतंकियों की आहट मिलते ही सेना ने अपनी घेराबंदी और मजबूत की साथ ही आतंकियों को सरेंडर करने के लिए कहा .. पर उन्होंने उस चेतावनी को अनसुना कर दिया .

आतंकियों की तरफ से भयानक गोलीबारी का जवाब राष्ट्र के रक्षको ने भी अपने अंदाज़ में दिया और दोनों तरफ से भीषण गोलीबारी के बाद एक तरफ से गोलियां चलनी बंद हो गई . जब सर्च अभियान चलाया गया तो २ दुर्दांत आतंकियों की लाशें बरामद हुई जो लश्कर ए तोइबा के सक्रिय सदस्य थे और स्थानीय निवासी होने के बाद भी वतन के गद्दार बन गये थे . मारे गये दोनों आतंकियों की पहिचान बशरत अहमद और तारिक अहमद के रूप में हुई है .. सघन तलाशी अभियान जारी है .

Share This Post