6 इस्लामिक आतंकियों को मौत की नींद सुला कर अमरता को प्राप्त हुआ हिन्द का शेर


जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद कल 28 अगस्त को इस्लामिक आतंकियों के राज्य को दहलाने की नापाक कोशिश की. लेकिन वो भूल गये थे कि भारतीय सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत पहले ही बोल चुके थे कि जो भी आतंकी हथियार उठाएगा, हम उसको ढाई फूट नीचे जमीन में गाढ़ देंगे. कल 28 सितंबर को यही हुआ जब जम्मू कश्मीर में तीन जगह इस्लामिक आतंकियों तथा सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई. इस दौरान सुरक्षाबलों ने 6 इस्लामिक आतंकियों को मार गिराया तो वहीं सेना के एक जवान के राष्ट्र रक्षा के इस यज्ञ में अपने प्राणों की आहुति दे दी.

खबर के मुताबिक़, जम्मू-कश्मीर के रामबन के बटोट में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई. इस मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर किए गए. सेना सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़, कल सुबह करीब 7.30 बजे, तीन संदिग्ध व्यक्ति ने बटोटे में NH 244 पर एक बस को रोकने की कोशिश की. सतर्क ड्राइवर ने गाड़ी नहीं रोकी और निकटतम सेना चौकी को सूचना दी. जिसके बाद क्यूआरटी (क्विक रिस्पांस टीम) की टीम ने ऑपरेशन शुरू किया.

सुरक्षाबलों के ऑपरेशन को देख इस्लामिक आतंकी एक घर में छिप गये तथा नागरिकों को बंधक बना लिया. अब सुरक्षाबलों के सामने डबल चुनौती थी. एक तो बंधक बनाये गये लोगों को बचाना था तो वहीं दूसरी तरफ आतंकियों की साजिश को भी विफल करना था. सुरक्षाबलों के अपनी कार्यवाई जारी रखी. इस दौरान सुरक्षाबलों ने सभी बंधकों को छुड़ा लिया तथा तीन इस्लामिक आतंकियों को लाश में बदल दिया. इस दौरान राष्ट्र की रक्षा में हिन्द की सेना का एक जवान वीरगति को प्राप्त हो गया.

दूसरी मुठभेड़ जम्मू-कश्मीर के गांदरबल में हुई. गांदरबल के नारानाद के जंगलों में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में तीन आंतकी मारे गए. सुरक्षाबलों ने खुफिया सूचना मिलने के बाद आज तड़के सर्च ऑपरेशन शुरू किया था. इसी दौरान गोलीबारी शुरू हो गई. यहां पर भी सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया. इसके अलावा श्रीनगर के नवाकदल में सीआरपीएफ पर आतंकियों द्वारा ग्रेनेड हमला किया गया. हमले के बाद आतंकी भाग निकले. हालाँकि हमले में कोई हताहत नहीं हुआ. इसके बाद सुरक्षाबलों ने सर्च अभियान चलाया.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share