दिख रहा बदलाव .. सुरक्षित बचाया गया फ़ौज का वो जवान कश्मीर से आई थी जिसके अपहरण की खबर

ये बदलाव के ही लक्षण कहे जा सकते है और सरकार के साथ साथ भारत की सेना की आक्रामकता भी . एक और जवान को सिपाही औरंगजेब बना देने या लेफ्टिनेंट उमर फैयाज़ बनाने की तैयारी को समय रहते ही भांप लिया गया और की गयी ऐसी घेराबंदी कि उसका बाल भी बांका नहीं हुआ और वो सुरक्षित वापस आ गया .

कल रात आई एक खबर ने एक बार फिर से देश के विभिन्न हिस्सों में सिरहन पैदा कर दी थी कि भारत की सेना का एक और जवान लापता है जिसके अपहरण की खबर वायरल होने लगी थी . ये जवान जम्मू कश्मीर लाईट इन्फैंट्री का था जो छुट्टियों के लिए अपने घर पर आया था . सबसे ख़ास बात ये रही कि ये जवान भी कश्मीर का ही रहने वाला था .

अचानक ही आई इस खबर के बाद तमाम एजेंसियां, सेना और पुलिस सक्रिय हो उठी और जबर्दस्त घेराबंदी और नाकेबंदी शुरू हो गयी . ध्य कश्मीर के बडगाम जिले से शुक्रवार हो आंतकियों द्वारा अगवा किए गए भारतीय सेना ने जवानका पता चल गया . शनिवार सुबह भारतीय सेना का जवान सुरक्षित अपने घर पर पहुंच गया है. सेना के अधिकारी और जम्मू कश्मीर पुलिस गायब हुए जवान से गहन पूछताछ कर रही है. उसके परिवार ने पुलिस को सूचना दी थी कि कुछ लोग काजीपुरा चदूरा में उनके घर आए और यासीन को ले गए.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW