पत्थरबाजों को सेना ने किया है एक बड़ा इशारा.. मकसद साफ़- “समझ सको तो समझ लो”

कश्मीर में इस्लामिक आतंकवाद तथा चरमपंथियों को लेकर ये बड़ा खुलासा तो है ही, साथ ही उन्मादी पत्थरबाजों को भारतीय सेना की तरफ से इशारा भी है कि अगर ये उन्मादी पत्थरबाज सेना के इस इशारे को समझ कर मुख्यधारा में चल सके तो ठीक है वरना राष्ट्र की रक्षा को अपना लहू तक बहाने वाली भारतीय सेना के जांबाज जवानों की बंदूकों से निकली गोलियां देश के दुश्मनों का काम तमाम कर उन्हें जह्ह्नुम पहुंचाने को तैयार हैं.

कांवड़ में आये मुस्लिम लड़के इरशाद को घेर लिया उन्मादियों ने.. फिर जो हुआ उसे नहीं कहा जा सकता सेक्यूलरिज्म

आपको बता दें कि कश्मीर घाटी के पत्थरबाजों और आतंकवाद का बड़ा कनेक्शन सामने है. यह जानकारी भारतीय सेना ने शुक्रवार को एक प्रेस वार्ता में दी. सेना की 15वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने एक प्रेस वार्ता में हैरान करने वाला खुलासा करते हुए कहा कि 83 प्रतिशत आतंकवादियों का इतिहास पत्थरबाज का रहा है. उन्होंने कहा कि कश्मीर में 83% आतंकी ऐसे हैं जो पहले पत्थरबाज थे, सेना पर पत्थर फेंकते थे तथा बाद में वो आतंकी बने.

सड़कों के बजाय छतों पर नमाज शुरू.. असर दिख रहा कड़े क़ानून का

इससे पहले कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास स्थिति नियंत्रण में है और काफी हद तक शांतिपूर्ण है. सेना की तरफ से कहा गया है कि वह पाकिस्तान को कश्मीर में शांति भंग करने नहीं देगी. ढिल्लों ने श्रीनगर में सुरक्षा बलों के एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि घाटी में आईईडी विस्फोटकों का खतरा ज्यादा है, लेकिन नियमित रूप से तलाशी अभियान चलाकर सुरक्षा बल इससे प्रभावी ढंग से निपट रहे है. उन्होंने बताया कि शोपियां में तलाशी अभियान चल रहा है जहां गुरुवार की रात सुरक्षा बलों पर हमला करने का प्रयास किया गया था.

सैलून वाले ने अपना नाम अजय रखा, हिन्दू लड़की उससे प्यार करने लगी.. शादी हुई तो मुंह दिखाई में हुआ गैंगरेप.. दरअसल वो अजय नहीं बल्कि अजमल था

उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान, पाकिस्तान आयुध फैक्ट्री में निर्मित एक बारूदी सुरंग को जब्त कर लिया गया. बारूदी सुरंग पर पाकिस्तानी आयुध फैक्ट्री का निशान बना हुआ है. सेना के अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा मार्ग पर सेना को भारी मात्रा में हथियारों का जखीरा मिला है जिसमें अमेरिकी एम-24 स्नाइपर राइफल भी शामिल है. कश्मीर के आईजी एसपी पाणि ने कहा कि घाटी में ज्यादातर पुलवामा और शोपियां के इलाकों में आईईडी विस्फोट करने के 10 से अधिक गंभीर प्रयास किए गए थे.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW