इस्लामिक आतंकियों को भारतीय सेना की चेतावनी- कितने गाजी आये, कितने गए.. देश के खिलाफ जो भी बंदूक उठाएगा वो मारा जायेगा


पुलवामा आतंकी हमले के बाद राष्ट्र के आक्रोश के बीच आज भारतीय सेना ने प्रेस कांफ्रेस करके इस्लामिक आतंकियों को सीधी चीताव्नी देते हुए कहा है कि कश्‍मीर घाटी में जो भी हथियार उठाएगा, उसे खत्म कर देंगे. भारतीय सेना ने चेतावनी जारी करते हुए कश्मीर की माताओं से आग्रह किया है कि वह अपने बच्‍चों को समझायें और सरेंडर करने को कहें. कितने गाजी आये और कितने गये, जो भी बंदूक उठाएगा वह मारा जायेगा. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को पाकिस्तान आर्मी का बच्चा बताते हुए भारतीय सुरक्षाबलों ने चेतावनी दी कि आने वाले समय में घाटी से आतंकियों के सफाये का ऑपरेशन जारी रहेगा और उन्हें चुन-चुनकर मारा जाएगा.

भारतीय सेना, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में ले. जनरल के जे एस ढिल्लन, GOC चिनार कॉर्प्स ने कहा, ‘पुलवामा हमले के 100 घंटे के भीतर ही आतंकियों को ढेर कर दिया गया. इस हमले में ISI के हाथ होने की आशंका से इनकार नहीं करते हैं.’ उन्होंने कहा कि घाटी में कितने गाजी आए और कितने चले गए. जो आतंकी कश्मीर में आएगा जिंदा नहीं बचेगा. कश्मीर पुलिस के आईजी एसपी पाणि ने कहा, ‘पिछले साल जैश 56 आतंकी मारे गए और इस साल भी अब तक मारे गए 31 आतंकियों में से 12 जैश के थे.’ उन्होंने कहा, ‘कश्मीर में युवाओं आतंक से जुड़ने में बनने में कमी आई है. घाटी में जो भी घुसपैठ करेगा वह जिंदा नहीं बचेगा.’

फ्टिनेंट जनरल ढिल्लन ने जैश के चीफ कमांडर गाजी रशीद के लिए कहा, ‘कितने गाजी आए कितने चले गए, हम उन्हें ऐसे ही हैंडल करेंगे कोई भी आए.’ उन्होंने कहा, ‘हमारा फोकस क्लियर है जो भी घाटी में घुसपैठ करेगा, वह जिंदा नहीं लौटेगा.’ उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में पाकिस्तान द्वारा घुसपैठ जारी है, लेकिन घुसपैठ में काफी हद तक कमी आई है.  सेना के लेफ्टिनेंट जनरल के जेएस ढिल्लन ने भटके कश्मीरी युवाओं की माताओं से अपील करते हुए कहा कि अपने बच्चों को जो आतंकी संगठन से जुड़े हैं उन्हें सरेंडर करने के लिए मनाएं. उन्होंने यह भी कहा कि नहीं तो सेना उनका खात्मा करने को मजबूर होगी.

लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लन ने कहा, ‘मैं जम्मू-कश्मीर के अभिवावकों खासकर माताओं से अपील करता हूं कि अपने बच्चों को समझाएं और गलत रास्ते पर चले गए लड़कों को सरेंडर करने के लिए बोलें. उन्हें समझाएं और मुख्यधारा में वापस आने के लिए कहें.’ उन्होंने कहा कि कश्मीर में जो बंदूक उठाएगा वह मारा जाएगा. उन्होंने कहा, ‘हम सरेंडर करनेवालों के लिए कई तरह के अच्छे कार्यक्रम चला रहे हैं, लेकिन आतंकी वारदातों में शामिल रहनेवालों के लिए कोई रहमदिली नहीं दिखाई जाएगी.’

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...