Breaking News:

भारतीय जवान का काई मानवाधिकार नहीं होता : वकील प्रशांत भूषण

श्रीनगर : कश्मीर में आतंक के लिए पाकिस्तान जिम्मेदार है लेकिन भारत में रहने वाले कुछ गद्दार उतने ही जिम्मेदार है जितना की पाकिस्तान। अब एक ओर गद्दार अपना फन उठाते हुए सामने आया है। भारत के सेक्युलर जो मुख्यतः दिल्ली में बैठे हैं, उनमें से एक वकील प्रशांत भूषण ने बयान दिया है कि भारत कब तक कश्मीर में मानवाधिकार का उल्लंघन करता रहेगा। क्या कश्मीर में रहने वाले लोगों की जान की कोई कीमत नहीं है। 
बता दें कि पिछले दिनों कश्मीर से दो खबर प्रमुखता से आई। पहले ये कि जिहादियों ने सैनिको का घेराकर मारा व उन्हे गालियां दी और देशद्रोही नारे लगाए, और दूसरी घटना की सैनिकों ने इन जिहादियों पर कार्यवाही की। वकील प्रशांत भूषण ने जवानों कि पिटाई पर तो जवाब नहीं दिया, पर जो जवान जिहादियों द्वारा मार खाने के बाद भी कुछ नहीं बोला और जो देशद्रोहीयों के द्वारा गालियां सुनता रहा उनका कोई मानवाधिकार नहीं है। वहीं, प्रशांत भूषण की नजर में जैसे ही जवानों ने देशद्रोहीयों पर कार्यवाही कर दी, तो दिल्ली में बैठे प्रशांत भूषण से बिलबिला उठे।
प्रशांत भूषण के अनुसार भारत कश्मीर में मानवाधिकारों का हनन कर रहा है। बता दें कि हमारी सेना हर बार, बाढ के समय कश्मीरी लोगों की जान बचाती है भारत कई करोड़ों रूपये का अनुदान कश्मीर के विकास के लिए देता है पर ये दलाल भारत को कश्मीर का मानवाधिकार का हनन करने वाला बता रहा है। गौरतलब है कि ये वकील प्रशांत भूषण वही है जिसने कश्मीर को भारत से अलग करने की बात उठाई थी, और याकूब मेनन और कई आतंकियों का मुकदमा लड़ चुका है।    
Share This Post