जाकिर मूसा के बाद उसके आतंकी दल “गजवात उल हिंद” की कमान संभाल रहा था हामिद लल्हारी.. वो भी पहुंचा मूसा के पास


भारत को गजवा-ए-हिंद बनाने के नापाक ख्वाबा पालने वाले इस्लामिक आतंकी जाकिर मूसा के बाद उसके आतंकी दल “गजवात उल हिंद” की कमान संभालने वाला हामिद लल्हारी को भी भारतीय सुरक्षा बलों ने उसके ही पास पहुंचा दिया है. खबर के मुताबिक़, कल भारतीय सुरक्षाबालों ने कल तीन इस्लामिक आतंकियों को मार गिराया था, जिसमें “गजवात उल हिंद”  का आतंकी हामिद लल्हारी भी शामिल था. हामिद लल्हारी के मारे जाने के साथ ही आतंकी दल “गजवात उल हिंद”  का सफाया हो गया है.

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आतंकी गतिविधियों को कुचलने के लिए उठाए जा रहे कदम और मौजूदा हालात पर विस्तृत जानकारी दी. उन्होंने बताया कि त्राल के राजपुरा में हुए एनकाउंटर में गजवत-उल-हिंद के तीन आतंकियों को मारे जाने के साथ ही इस आतंकी संगठन का खात्मा कर दिया गया है. डीजीपी दिलबाग़ सिंह ने बताया कि मंगलवार देर रात त्राल के राजपुरा में मारे गए तीनों लोकल मिलिटेंट अंसार गजवत-उल-हिंद का हिस्सा थे. जाकिर मूसा के मारे जाने के बाद ग्रुप की कमांड हमीद ललहारी को दी गई। ललहारी तब से इसे चला रहा था और दूसरों को मोटिवेट किया था.

उन्होंने बताया कि मूसा के बाद यह ग्रुप खत्म हो रहा था लेकिन ललिहारी ने युवाओं को मोटिवेट करके इसमें शामिल किया. इसी तरह मारे गए आतंकी नवीद और जुनैद इसमें शामिल हुए. तीनों अवंतीपुरा-पुलवामा के रहनेवाले थे. दिलबाग सिंह ने दावा किया है कि गजवत-उल-हिंद फिलहाल खत्म हो गया है. हालांकि, उन्होंने कहा कि पहले से मौजूद उसका कोई समर्थक अगर उभर आता है तो उसके बारे में कुछ कहना मुश्किल है लेकिन फिलहाल इसका खात्मा कर दिया गया है.

उन्होंने कहा कि जो आतंकी मारे गए हैं वे बहुत सारी घटनाओं में शामिल थे. काकापुर में सेना पर अटैक, फयाज अहमद के कत्ल में, काकापुरा और पुलवामा में पुलिस और लोगों के ऊपर अटैक में, लोगों को डराने की घटनाओं में ये शामिल थे. इनसे बड़ी मात्रा में असलहा पकड़ा गया है जिसमें तीन एके 47-46 शामिल हैं. उन्होंने बताया कि जैश हर ग्रुप के साथ कोऑर्डिनेट कर रहा है. जैश की कोशिश है कि पाक की इशारे पर यहां दहशतगर्दी को बढ़ावा दे. जैश और लश्कर को पाकिस्तान से निर्देश मिलते हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share