उस गुजरात पुलिस को सैल्यूट कर रहा भारत जो जश्न मनाने से पहले ही पहुंच गई कमलेश तिवारी के गुनाहगार आतंकियों तक


प्रखर हिन्दू राष्ट्रवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड का खुलासा हो चुका है. जिस तरह से गुजरात ATS ने न सिर्फ कमलेश तिवारी हत्याकांड का खुलासा किया बल्कि तीन उन्मादियों को गिरफ्तार भी कर लिया, उसे देख पूरा देश गुजरात पुलिस को सैल्यूट कर रहा है. कमलेश तिवारी के घर में घुसकर उनके क़त्ल के बाद जब देश में आक्रोश चरम पर था, लोग भड़के हुए थे, ऐसे में मौके से मिले सामान के आधार पर यूपी पुलिस ने गुजरात पुलिस से संपर्क किया. इसके बाद गुजरात ATS तुरंत सक्रिय हुई तथा केस की गुत्थी को सुझा कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

अब कमलेश तिवारी की ह्त्या मामले में एक और बड़ी खबर सामने आई है. खबर ले मुताबिक़, कमलेश तिवारी की ह्त्या के बाद सूरत में जश्न मनाने की तैयारी की गई थी. कमलेश तिवारी की हत्या के बाद अशफाक तथा मोइनुद्दीन ने सबसे पहले सूरत में रशीद और फैजान को फोन किया और कहा कि काम हो गया है. उसके बाद यहां के आरोपियों ने जश्न की तैयारी शुरू कर दी. लेकिन इससे पहले कि जश्न मनाया जाता, गुजरात पुलिस वहां पहुँच गई तथा राशिद, फैजान व मौलाना मोहसिन को गिरफ्तार कर लिया.

बाद में कई बार अशफाक और फरीद उर्फ़ मोइनुद्दीन को फोन किया लेकिन संपर्क नहीं हुआ. हत्या करने के बाद आरोपियों ने किस किस को फोन किया था, इसकी जांच हो रही है. पुलिस की जांच में पता चला कि अशफाक तथा मोइनुद्दीन 16 अक्टूबर को ही उद्योग कर्मी एक्सप्रेस से निकले थे और वहां से लखनऊ गए थे. उन्होंने पहले से ही भगवा कपड़े पहन रखे थे. लखनऊ पहुंचकर अशफाक तथा मोइनुद्दीन होटल में रुके तथा वहां से सीधे कमलेश तिवारी के दफ्तर पहुंच गए तथा इस्लामिक आतंकी दल ISIS तथा तालिबान के अंदाज में उनकी ह्त्या कर दी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...