कपिल का खुलासा, क्यों चीख रहे थे कालेधन पर केजरीवाल

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के निलंबित नेता व दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने प्रेस वार्ता कर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ चौंकाने वाले खुलासे किए। कपिल मिश्रा ने दावा किया कि आम आदमी पार्टी ने हवाला के जरिए पैसा जुटाया है। उन्होंने खुलासा किया कि आम आदमी पार्टी के खातों का साल 2015 और 2016 का डाटा है। सरकार ने तीन साल तक ब्लैक मनी को व्हाइट मनी किया है।

कपिल मिश्रा ने कहा कि चुनाव आयोग को चंदे की गलत जानकारी दी गई। बैंक में पैसा आया 45 करोड़ और वेबसाइट पर डाला गया 19 करोड़। 25 करोड़ रुपये छुपाए गए। उन्‍होंने ये सारे कालेधन को एक्सिस बैंक के माध्यम से सफेद किया। इन्हीं पैसों से विदेश यात्राएं हुईं। 16 कंपनियों के जरिए जुटाए गए चंदे को छुपाया गया। इसके आगे कपिल मिश्रा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने देश की जनता से चंदा को लेकर धोखा दिया।

नकली कंपनियों का नेटवर्क तैयार किया गया, कालेधन के सफेद किया गया। 2015-16 में बैंक में 65 करोड़ से ज्यादा पैसा था, लेकिन चुनाव आयोग को बताया गया 32 करोड़ का हिसाब किताब। वेबसाइट पर भी अलग अमाउंट डाले गए। कई बोगस एंट्री की गई। ज्यादातर बैंक अकाउंट ऐक्सिस बैंक के हैं, ये वही बैंक हैं जो नोटबंदी के दौरान कालेधन को सफेद करने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने देश की जनता से चंदा को लेकर धोखा दिया। कालेधन को सफेद करने के इस खेल में केजरीवाल के साथ उनके निजी लोग भी शामिल है।

कपिल मिश्रा ने कहा कि आज इस बात को लेकर सीबीआई में एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि मोहल्ला क्लीनिक के नाम पर धोखा दिया गया। नील नाम के एक शख्स का परिचय कराने के बाद उन्होंने कहा कि इन्होंने यह कागज एकत्र किए हैं। इसके साथ ही प्रेस वार्ता में कपिल मिश्रा ने केजरीवाल को एक वीडियो भी दिखाया जिसमें वो कहत दिख रह हैं कि हमने किसी से गलत पैसा नहीं लिया, नहीं तो सरकार बनने के बाद ऐहसान चुकाना पड़ता है। कपिल ने केजरीवाल को चेतावनी देते हुए कहा का मैं केजरीवाल का कॉलर पकड़कर तिहाड़ जेल में भिजवाऊंगा। वहीं उसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के अंत में कपिल बेहोश हो गए।

Share This Post