पद्मावत के विरोध अब हिंसक स्वरूप में… अहमदाबाद में कर्फ्यू जैसे हालात

सुप्रीम कोर्ट और सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद भी फिल्म पद्मावत के विरोध में राजपूत करणी सेना के तेवर नरम नहीं हुए।करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी को संजय लीला भंसाली की तरफ से फिल्म दिखाने का न्योता दिया है। यह जानकारी कालवी ने शनिवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर मीडिया को दी है। इस दौरान करणी सेना प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने मल्टीप्लेक्स और थिएटर मालिकों से फिल्म नहीं दिखाने की अपील की।

उन्होंने रिलीज के दिन 25 जनवरी को भारत बंद का भी एलान किया है।

गुजरात के अहमदाबाद में राजपूत समाज की ओर से हाईवे जाम करने की खबरें हैं। सड़क पर जाम के दौरान तोड़-फोड़ और आगजनी भी की गई है।भाजपा नेता सूरज पाल एमू ने फैसले पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, आज सुप्रीम कोर्ट ने लाखों-करोड़ लोगों, लाखों-करोड़ हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है, जो कोर्ट का सम्मान करते हैं।

हमारा संघर्ष जारी रहेगा चाहे मुझे फांसी लगा दो! ये फिल्म रिलीज होगी तो देश टूटेगा।

करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र कालवी 25 जनवरी को भारत बंद की भी घोषण कर चुके हैं. वहीं गुजरात में करणी सेना के विरोध के चलते पहले ही मल्‍टीप्‍लेक्‍स संचालक इस फिल्‍म को रिलीज न करने की बात कह चुके हैं. लेकिन अगर कोई इस फिल्‍म को दिखाने के लिए तैयार होता है तो करणी सेना वहां धावा बोल रही है.राजपूत संगठनों ने सिनेमा में कई जगहों के कांच तोड़ डाले. हॉल के अंदर काफी नुकसान किया. बता दें कि करणी सेना ने राजस्‍थान के सभी सिनेमाहॉल में पद्मावत को न ख्‍ारीदने और न ही दिखाने की संकेत दिए है

Share This Post