देश की सब्सिडी से पला और पढ़ा एक और गद्दार बन गया आतंकी… इंजीनियर ने उठाया हथियार भारत के खिलाफ

उसने हिंदुस्तान में जन्म लिया, हिंदुस्तान की हवा में सांस ली, हिंदुस्तान का ही अन्न खाया. इसके अलावा वह हिंदुस्तान के नागरिकों के टैक्स की सब्सिडी से पला और उसी से पढ़कर इंजीनियर बना. उसको सब्सिडी इसलिए दी गयी थी कि वह पढ़कर देश के विकास में अपना योगदान दे. लेकिन इसके बाद भी उसने देश से गद्दारी की तथा हिंदुस्तान की बर्बादी का संकल्प लेकर उसने हथियार उठाया तथा इस्लामिक हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया.

कश्मीर घाटी में सेना द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन आलआउट के बीच दक्षिण कश्मीर से इंजी. छात्र के अलावा दो अन्य युवक आतंकी संगठनों में शामिल हो गए. यह सभी पुलवाम जिले के हैं. सूत्रों के अनुसार 16 वर्षीय फैजान मजीद, शौकत बिन यूसुफ और निशाज हुसैन लौन नामक तीन युवक आतंकी बन गए. फैजान और शौकत पुलवामा के अवंतिपूरा कस्बे के रहने वाले हैं. दोनो तहरीक-उल-मुझाहिदीन आतंकी संगठन में शामिल हो गए. वहीं, निशाज जो इंजी. छात्र था और पुलवामा के त्राल कस्बे का रहने वाला है और हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया.

सूत्रों के अनुसार तीनों युवक पिछले सप्ताह उनके घरों से लापता हो गया थे जिसके बाद उनके परिवारवालों ने स्थानीय पुलिस स्टेशनों में लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इस दौरान लापता होने के कुछ ही दिनों बाद हथियारों के साथ उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि वह तस्वीरों की प्रामाणिकता की जांच कर रहे हैं.

Share This Post