अब्दुल्ला रोक दिए गये मंदिर जाने से.. कश्मीरी हिन्दुओं ने ठुकराया नकली सेक्यूलरिज्म और किया हर हर महादेव का उद्घोष

शायद ये मामला गवाही दे रहा है उस नकली सेक्यूलरिज्म की राजनीति के पटाक्षेप की, जिसके तहत साजिशन व योजनाबद्ध तरीके से आजादी के बाद से ही न सिंर्फ हिन्दू आस्थाओं से खिलवाड़ किया जाता रहा बल्कि हिन्दुओं का क्रूरतम दमन भी किया जाता रहा. 1990 में महर्षि कश्यप की भूमि कश्मीर इस्लामिक चरमपंथियों द्वारा जिस बेरहमी तथा क्रूरतम तरीके से कश्मीरी हिन्दुओं का दमन किया गया, उनका क़त्ल किया गया, महिलाओं से बलात्कार किया गया, उसे याद कर आज भी रूह कांपने लगती है.

17 जून: “निर्वाण दिवस” राजमाता जीजाबाई.. भारतवर्ष की वो महान नारी शक्ति जिनके कारण आज भी गौरवान्वित है भारत का पावन इतिहास

लेकिन अब समय बदल चुका है. पूरे देश के साथ कश्मीर के भी हिन्दू अव नकली सेक्यूलरिज्म की राजनीति को ठुकराकर हिन्दू राष्ट्रवाद को स्वीकार कर रहे हैं. इसकी बानगी जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के के ज्येष्ठा देवी श्राइन मंदिर में उस समय देखने को मिली जब राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री तथा नेशनल कांफ्रेंस प्रमुख फारुख अब्दुल्ला पहुंचे. फारुख  अब्दुल्ला के मंदिर पहुँचते ही कश्मीरी हिन्दू भड़क उठे तथा हर हर महादेव व मोदी मोदी के नारे लगाने शुरू कर दिए. इसके बाद फारुख अब्दुल्ला को दबे पांव वापस लौटना पड़ा.

हर बार इलाके का पुलिस वाला ही सस्पेंड क्यों होता है ? कभी उस क्षेत्र का पार्षद, विधायक, सांसद या मंत्री क्यों नहीं ?

आक्रोशित कश्मीरी हिन्दुओं ने फारूख अब्दुल्ला को मंदिर में घुसने भी नहीं दिया गया. कश्मीरी पंडित फारूख अब्दुल्ला से घाटी से उनको हटाए जाने के बारे में सवाल पूछ रहे थे. हालांकि फारूख अब्दुल्ला के समर्थकों ने वहां मौजूद भीड़ को समझाने का प्रयास किया लेकिन वह माने नहीं और मोदी-मोदी, हर- हर महादेव के नारे लगाते रहे. लोगों की भीड़ देख फारूख शांत रहें और उनके समर्थक भीड़ को ये समझाने की कोशिश करते रहे कि एनसी नेता को एक बार सुन ले कि वह क्या कहना चाहते हैं. लेकिन कश्मीरी हिन्दू नहीं माने तथा हर हर महादेव के नारे लगाते रहे. ये देख अंत में फारुख अब्दुल्ला वापस लौट गये.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

राष्ट्रवाद पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW