Breaking News:

मदरसे को कुकर्म का अड्डा बना देने वाले को कानून सिखाने वाली है पुलिस… इकट्ठा हो रहे तमाम सनसनीखेज सबूत

तीन तलाक यदि सरियत के खिलाफ है तो क्या मदरसों में मुस्लिम युवतियों से होने वाले दुष्कर्म हक़ में है। मुस्लिम बहने जहाँ तलाक और शोषण से मुक्ति पानी चाहती है तो वहीं उनके कुछ मजहबी ठेकेदार उन्हें सिर्फ अपना गुलाम बनाने चाहते है। क्यों मस्जिदों के इमाम और मौलाना बलात्कार के खिलाफ मस्जिदों से एलान नहीं करते। जब केंद्र की बीजेपी सरकार मुस्लिम बहनो के हक़ में कोई कार्य कर रही है तो मुल्लाओं को आपत्ति क्यों हो रही है।

 

सआदतगंज के यासीनगंज स्थित मदरसा खदीज़तुल कुबरा लिलबनात के मैनेजर कारी तैय्यब जिया दसवीं की छात्रा को धमकी देकर पिछले तीन सालों से उसके साथ बलात्कार कर रहा था। तैय्यब मदरसे में पड़ने वाली अन्य छात्राओं को भी अपनी हवस का शिकार बनाना चाहता था। छात्राओं के विरोध पर वह उनसे छेड़खानी व मारपीट किया करता था साथ ही मुँह खोलने पर जान से मारने की धमकी भी दिया करता था।

पुलिस के मुताबिक मुकदमे में मदरसे की शिक्षिकाओं के भी बयान दर्ज किए जाएंगे। खाला बाजार के सीओ अनिल कुमार यादव ने बताया कि इसके अलावा अन्य कर्मचारियों से भी पूछताछ की जाएगी। साथ ही जेल भेजे गए मैनेजर कारी तैय्यब जिया का छात्रा से दुष्कर्म के केस में पुलिस कस्टडी रिमांड लिया जाएगा। दुष्कर्म पीड़िता का सोमवार को डॉक्टरों के पैनल से मेडिकल कराया जाएगा। एसएसपी ने सआदतगंज पुलिस को दुष्कर्म पीड़िता व छेड़खानी का मुकदमा दर्ज कराने वाली पांच छात्राओं के मजिस्ट्रेट के समक्ष कलमबंद बयान दर्ज कराने के आदेश दिए हैं।

एएसपी सिटी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि मैनेजर कारी तैय्यब जिया को जेल भेजे जाने के बाद दसवीं की छात्रा ने शनिवार को उस पर दुष्कर्म व जानमाल की धमकी का केस दर्ज कराया है। छात्रा का कहना है कि कारी तैय्यब ने तीन साल पहले उसे कमरे में बुलाकर छेड़खानी की और धमकी देकर दुष्कर्म किया था। इसके बाद से आए दिन यौनशोषण कर रहा था। डर के कारण वह किसी को बताने की हिम्मत नहीं जुटा पाई थी। एएसपी ने कहा कि मदरसे की पांच नाबालिग छात्राओं ने मैनेजर कारी तैय्यब जिया पर छेड़खानी व मारपीट का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को सआदतगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
 

Share This Post

Leave a Reply