Breaking News:

IAS शाह फैसल के चयन को बताया जा रहा था कश्मीर के बदल रहे दृश्य का प्रतीक..लेकिन क्या वो सब झूठ निकला ?

जिसे पत्थर बरसा रहे क्रूर पत्थरबाज मासूम लग रहे हों और दुर्दांत आतंकी “लोग” लग रहे हों , वो कभी भारत के सबसे बड़े सिविल सेवा के पद पर बैठा था..” ये बात है उस शाह फैसल की जो इस से पहले भी अपने ट्वीट आदि के चलते अपने इरादे दिखाते जा रहे थे लेकिन भारत के नेताओं की कथित सेकुलर नीति के चलते उसको नजरअंदाज किया जा रहा था..सूत्रों के अनुसार इसी कथित धर्मनिरपेक्ष नीति के चलते ही अभी तक शाह फैसल का इस्तीफा तक नही स्वीकार किया गया है जबकि उन्होंने खुल कर सैनिको का अपमान किया है जो सैनिक अपने प्राण दे कर भारत की रक्षा कर रहे हैं..

पिछले कुछ समय से सिविल सेवा में तेजी से कश्मीरियों का चयन हुआ जिसमें शाह फैसल भी शामिल थे..एक अन्य कश्मीरी अतहर से तो टीना डाबी ने शादी भी कर ली जो काफी चर्चा का विषय रही..जम्मू कश्मीर के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के चर्चित अफसर शाह फैसल ने इस्तीफा दे दिया है. बताया जा रहा है कि वह सियासत में कदम रखने वाले हैं और इसकी शुरुआत वह उमर अब्दुल्ला की पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस से कर सकते हैं. नेशनल कॉन्फ्रेंस के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि शाह फैसल की नेशनल कॉन्फ्रेंस के साथ बातचीत अंतिम दौर में है.

शाह फैसल वही शख्स हैं जिन्होंने 2010 की सिविल सेवा की परीक्षा में टॉप किया था और कश्मीर के मसले अपने रुख को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं. शाह फैसल ने बुधवार सुबह ही अपने उच्चाधिकारियों को इस्तीफा भेज दिया था. हालांकि अभी इसे मंजूरी नहीं मिली है. सूत्रों ने बताया कि शाह फैसल की नेशनल कॉन्फ्रेंस में शामिल होने और चुनाव लड़ने को लेकर सीट पर चर्चा चल रही है. इस पर जल्द ही अंतिम निर्णय लिया जा सकता है.

Share This Post