बालाकोट में पाकिस्तान की तबाही के सूत्रधार सामंत गोयल को मिली एक और बड़ी जिम्मेदारी

आईपीएस अधिकारी सामंत गोयल.. ये वो नाम है जो बालाकोट एयरस्ट्राइक में पाकिस्तान की तबाही का मुख्य सूत्रधार था. पाकिस्तान में एयरस्ट्राइक करते हुए इस्लामिक आतंकी दल जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को किस तरह नेस्तानाबूद करना है, इसकी सारी योजना सामंत गोयल ने ही बनाई थी. आपको बता दें कि बालाकोट एयर स्ट्राइक की योजना में अहम भूमिका निभाने वाले आईपीएस अधिकारी सामंत गोयल को देश की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग यानी रॉ का प्रमुख बनाया गया है. वहीं, आईपीएस अधिकारी अरविंद कुमार को इंटेलिजेंस ब्यूरो यानी आईबी का निदेशक बनाया गया है.

आम के बाग़ में महिला का गैंगरेप.. 3 दरिंदों में एक का नाम शाहिद अंसारी

सामंत गोयल तथा अरविंद कुमार दोनों ही 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. केंद्र सरकार ने दोनों अधिकारियों को अहम जिम्मेदारी सौंपी है. सामंत गोयल मौजूदा रॉ चीफ अनिल कुमार धस्माना की जगह लेंगे, जो ढाई साल तक रॉ का शानदार नेतृत्व करने के बाद सेवानिवृत्त हो रहे हैं. पंजाब कैडर के आईपीएस अधिकारी सामंत गोयल के बारे में बताया जाता है कि 1990 के दशक में पंजाब में उग्रवाद चरम पर था. उस वक्त सामंत गोयल ने उग्रवाद के खिलाफ कई अभियान चलाए थे और इस पर लगाम लगाया था.

कभी अवैध खनन और जातीय हिंसा के लिए चर्चित रहा सहारनपुर अब बदल गया है .. मिलिए इस बदलाव के सूत्रधार से

इसके अलावा पुलवामा आतंकी हमले के बाद सामंत गोयल ने बालाकोट एयर स्ट्राइक की प्लानिंग की थी. पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था, जिसमें 40 से ज्यादा जवान बलिदान हो गए थे. इसके बाद भारत ने पाकिस्तान में घुसके बालाकोट इस्लामिक आतंकी दल जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की थी और आतंकियों के ठिकानों को नेस्तनाबूत किया था. इस एयरस्ट्राइक में करीब 250 से ज्यादा इस्लामिक आतंकी मारे गये थे. इस एयरस्ट्राइक की सारी योजना सामंत गोयल ने बनाई थी.

रूस से मिसाइल खरीदने पर चीख रहे अमेरिका को इस अंदाज में खामोश करवाया भारतीय विदेश मंत्री ने.. संदेश साफ- “राष्ट्र सर्वप्रथम”

इसके अलावा इंटेलिजेंस ब्यूरो(आईबी) के नए निदेशक बनाए गए अरविंद कुमार असम-मेघालय कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं. फिलहाल अरविंद कुमार, आईबी में ही विशेष सचिव हैं. उन्हें कश्मीर मामलों का विशेषज्ञ माना जाता है. मालूम हो कि अपने दूसरे कार्यकाल में केंद्र की मोदी सरकार कश्मीर को लेकर और अधिक गंभीर हुई है. गृह मंत्री अमित शाह भी कई बैठकों में कश्मीर मुद्दा सुलझाने को लेकर चर्चा कर चुके हैं तथा फिलहाल कश्मीर दौरे पर ही हैं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

 

Share This Post