जानिए अब 3 तलाक बोलने वाले शौहर को कानून देगा कैसी सजा ?

मोदी सरकार की अथक कोशिशो के बाद आख़िरकार तीन तलाक बिन संसद में पारित हो ही गया है . इस कानूने के बनते ही पूरे भारत की मुस्लिम महिलाओं ने एक नई आज़ादी का एहसास किया है और इसको अपने लिए एतिहासिक कदम और दिन बताया है . कभी फेसबुक पर तलाक , कभी व्हाट्सएप से तलाक . कभी खत भेज कर तीन तलाक तो कभी दीवाल पर लिख कर तीन तलाक.. और हो जाया करती थी महिलओं की जिन्दगी बर्बाद . लेकिन अब उसके खिलाफ बने हैं बड़े कानून ..

नए कानून बनने के बाद अब किसी शौहर द्वारा एक समय में अपनी पत्नी को 3 बार तलाक-तलाक-तलाक कहना कानूनन अपराध होगा और आरोपी को तीन साल तक कैद और जुर्माना भुगतना पड़ सकता है. तलाक का रूप भले ही मौखिक, लिखित या किसी अन्य माध्यम से ही क्यों न हो लेकिन अब पति अगर एक बार में अपनी पत्नी को तीन तलाक देता है तो वह अपराध की श्रेणी में आएगा.  महिला अधिकार संरक्षण कानून 2019 बिल के मुताबिक एक समय में तीन तलाक देना अपराध है। इसीलिए पुलिस बिना वारंट के तीन तलाक देने वाले आरोपी पति को गिरफ्तार कर सकती है।

ध्यान देने योग्य है कि वर्तमान सरकार की अटल इच्छा शक्ति के चलते मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से निजात दिलाने के वादे को मोदी सरकार ने पूरा कर दिया है। तीन तलाक बिल 2019 (महिला अधिकार संरक्षण कानून) पर संसद के दोनों सदनों की मुहर लग चुकी है। अब राष्ट्रपति की मुहर लगते ही यह कानून पूरी तरह से प्रभावी हो जाएगा जिसमे अब कोई भी अडचन नहीं रह गई है . तीन तलाक पर बने कानून में छोटे बच्चों की निगरानी व रखावाली मां के पास रहेगी। नए कानून में समझौते के विकल्प को भी रखा गया है. हालांकि पत्नी के पहल पर ही समझौता हो सकता है, लेकिन मजिस्ट्रेट के द्वारा उचित शर्तों के साथ।

Share This Post