जमीयत ने जारी की है जायज और हराम की लिस्ट.. आप भी जानिये कि क्या जायज और क्या नाजायज ?

ये लिस्ट जारी हुई है जिसमे क्या जायज और क्या नाजायज है इसका सन्देश भारत के मुसलमानों को दिया गया है . जमियत भारत के तमाम मुसलमानों की अगुवाई का दावा करता है और इस बीच में पकडे गये कई आतंकियों को बिना शर्त खुल कर कानूनी सहायता उपलब्ध करवाने के लिए काफी चर्चा में भी आया था . इस सम्मेलन से भारत में मुसलमानों को एक संदेश दिया गया है कि उनके लिए क्या जायज है और क्या नाजायज .. मतलब हराम और हलाल की लिस्ट ..

असली हिन्दू कौन है अब इसे बतायेंगी कांग्रेस की नूरी खान.. और जानिये उन्होंने किस को बताया सच्चा हिन्दू ? क्या आप भी मानेगे उन्हें ?

सम्मेलन में दारुल उलूम देवबंद, नदवातुल उलेमा लखनऊ और जामिया कासमियां शाही मुरादाबाद सहित देश लग भाग 200 इस्लामी विद्वान मौजूद थे . इसमें पास हुए प्रस्ताव निन्मलिखित हैं –

1- इंटरनेट के माध्यम से लेन-देन आदि की कुछ आधुनिक सुविधाओं से संबंधित एक प्रस्ताव में कंपनियों का गूगल ऐडसेंस के माध्यम से विभिन्न चीज़ों, सेवाओं का प्रचार प्रसार प्रयोग करने का मामला जायज बताया गया है.

२- फिल्म और हराम प्रोग्रामओं पर विज्ञापन देना इस्लामी दृष्टिकोण से नाजायज है .

३- एप्स (इजी पैसा पेटीएम) आदि के माध्यम से लेन-देन और धन राशि का ट्रांजैक्शन पर कैशबैक या पॉइंट आदि के नाम से जो रकम मिलती है वह एक तरह का इनाम है जिससे लाभ उठाना जाइज है।

एयरस्ट्राइक के सबूत मांगने वालों पर भड़के पीएम मोदी, बोले- पाक अभी तक लाशें गिनने में लगा है, ये हमसे सबूत मांग रहे

4 – मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से टैक्सी आदि किराए पर लेने को भी शरन जाइज.

5 – गाड़ी मालिक व ड्राइवर को मिलने वाला बोनस कंपनी की तरफ से एक तरह का इनाम है जिसे लेना शरन जायज.

6 – गाड़ी बुक करने के बाद रद्द करना या न लेने की स्थिति में कंपनी का नियमानुसार शुल्क वसूल करना जायज .

7- सुकन्या समृद्धि योजना को ब्याज आधारित होने के कारण नाजायज.

8 – सरकार कुछ स्कीमों के तहत नवजात बच्ची के नाम पर बैंक में एक निर्धारित धनराशि जमा करती है जिसमें स्वयं लड़की या उसके संरक्षक को प्रयोग करने का अधिकार (हक) नहीं होता फिर एक अवधि के बाद सरकार ही की तरफ से इस लड़की के खाते में और अधिक धनराशि की बढ़ोतरी कर दी जाती है लड़की या उसके मां बाप की तरफ से बैंक में कोई रकम जमा नहीं की जाती तो यह पूरी रकम सरकार का सहयोग है, इसलिए ये जाएज़.

अब लालू की पार्टी में मची भगदड़.. RJD प्रदेश अध्यक्ष ने ओड़ लिया भगवा तथा बोलीं- “फिर एक बार मोदी सरकार”

9 – पशुपालन के लिए सरकार बिना ब्याज वाला कर्ज और डेबिट कार्ड प्रयोग करने पर कंपनी की तरफ से जो कैशबैक मिलता है वह जायज.

10- विभिन्न विषयों के अध्याय में बढ़ोतरी और सरलता पैदा करने के लिए हनफ़ी मसलक के अलावा अगर किसी इमाम के कथन से समस्या का समाधान होता है तो वह जायज़ ..

पाकिस्तान में अपनी ही नाबालिग बहन के तीन बलात्कारी भाई गिरफ्तार. बहन को मुह बंद रखने के लिए दिया था “पवित्र किताब” का वास्ता

Share This Post