बलात्कार का विरोध कर रही हैं मायावती लेकिन उनका ही बलात्कारी सांसद उठा रहा है विशेषाधिकार का लाभ


उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री तथा बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती, जो खुद को नारी स्वाभिमान की बड़ी पैरोकार बताती हैं तथा बलात्कार का तीव्र विओध करती है लेकिन इन्हीं मायावती जी की पार्टी का एक लोकसभा सांसद बलात्कारी है. मायावती की पार्टी का ये सांसद बलात्कार के आरोप में फरारी काट रहा है तथा सांसद के रूप में तमाम विशेषाधिकारों का लाभ ले रहा है. मायावती की पार्टी के इस बलात्कारी सांसद का नाम है अतुल राय जो उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट से सांसद है.

सीरिया से भागी जिन लड़कियों को शरण दी इस्लामिक मुल्क लेबनान ने,, अब वहां वो बच्चियां बन गई हैं उनकी हवस बुझाने का माध्यम

खबर के मुताबिक़, घोसी लोकसभा सीट से बहुजन समाज पार्टी के सांसद रेप के आरोपी अतुल राय सत्र के दूसरे दिन में संसद से नदारद रहे. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) टिकट पर चुनाव जीतकर आए राय के अदालत में हाजिर न होने पर उनके घर पर कुर्की का नोटिस चस्पा किया गया है. उन पर एक पूर्व छात्रा की शिकायत पर वाराणसी के लंका थाने में रेप का मामला दर्ज गया है, जिसके कारण उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया गया है. गिरफ्तारी से बचने के लिए बसपा सांसद फरारी काट रहा है.

सहारनपुर से भी भयावह हालात बन रहे थे चंदौली में.. एक बार फिर योगी सरकार की बुरी फजीहत करवाने के लिए तैयार था आबकारी विभाग अगर सतर्क न होती पुलिस तो….

संसद के नियमों के मुताबिक अगर किसी सांसद पर आपराधिक मुकदमा दर्ज है तो पुलिस उसे गिरफ्तार कर सकती है लेकिन गिरफ्तारी के 24 घंटे के भीतर इसकी सूचना लोकसभा अध्यक्ष को देनी होती है. ऐसे में भले ही अतुल राय ने अभी सांसद के तौर पर शपथ न ली हो लेकिन जीत के सर्टिफिकेट के साथ ही सांसद के तौर पर उनकी पारी शुरू हो चुकी है. अब उन्हें सांसद होने के नाते विशेषाधिकार हासिल है. माना जा रहा था कि 17वीं लोकसभा के पहले दिन गैर मौजूद रहने के बाद दूसरे दिन अतुल राय लोकसभा में मौजूद रहेंगे. लेकिन मंगलवार को दूसरे दिन की कार्यवाही के दौरान भी राय संसद से नदारद रहे.

संसद में ओवैसी के अल्लाहू अकबर को वामपंथी विचारधारा ने घोषित किया सेक्यूलरिज्म… पर “जयश्रीराम” व “वन्देमातरम” पर दिखाई ये सोच

यूपी से चुनाव जीतकर आए बाकी सदस्यों को कल मंगलवार को लोकसभा में सांसद के तौर पर शपथ दिलाई गई. लोकसभा चुनाव के दौरान ही अतुल राय पर रेप का आरोप लगा था, जिसके बाद से वे फरार चल रहे हैं. उन्होंने हाई कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई थी, लेकिन उन्हें कहीं भी राहत नहीं मिली. अब उनपर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. अतुल राय पर अपनी सहपाठी के साथ ही दुष्कर्म के आरोप है और केस दर्ज होने के बाद से वे फरार चल रहे हैं.

लैंड जिहाद के खिलाफ चट्टान की तरह खड़े हुए बीजेपी सांसद.. दावा किया- “दिल्ली में बेतहाशा बढ़ रही हैं मस्जिदें”

फरार रहने के दौरान वह फेसबुक पोस्ट के जरिए संसदीय क्षेत्र की जनता का अपनी जीत के लिए आभार जता चुके है. लेकिन उनकी तलाश में लगी पुलिस ने वाराणसी में उनके आवास पर कुर्की का नोटिस चस्पा कर दिया है. इसके बाद उन्होंने अदालत में समर्पण की बात कही थी, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया, जिसके बाद पुलिस ने कुर्की का आदेश जारी किया है. घोसी से सांसद अतुल राय को खोजने में पुलिस की सभी टीमें नाकाम साबित हो चुकी हैं. अपराध शाखा की सर्विलांस सेल भी उनका पता लगाने में असफल रही.

बनिए कश्मीर में तैनात उस फ़ौजी की आवाज जिसकी जमीन कब्जाई जा रही है तेलंगाना में.. वो तेलंगाना जिसे ओवैसी मानता है अपना गढ़

आत्मसमर्पण की अर्जी और गिरफ्तारी पर रोक की याचिका खारिज होने से सांसद के सामने जेल जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है लेकिन वह पुलिस से भागते फिर रहे हैं. अतुल कुमार राय पर बलिया की एक युवती ने बनारस के लंका थाने में रेप, धोखाधड़ी और धमकी देने समेत कई धाराओं मामला दर्ज कराया है. दर्ज मामले के मुताबिक, अतुल राय युवती को लंका स्थित एक अपार्टमेंट के फ्लैट में झांसा देकर ले गए और उनका यौन शोषण किया. युवती ने उन पर यह आरोप भी लगाया है कि बसपा नेता दुष्कर्म के बाद उस पर मुंह बंद रखने का दबाव बनाते रहे हैं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...