मासूम बच्चों का अपहरण कर उन्हें नंगा कर वीडियो बनाता था मोहम्मद शाहिद.. फिर करता था बलात्कार और हँसता था उनकी चीखों पर


ये घटना देश की राजधानी दिल्ली की है, जिसने दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश को शर्मशार कर दिया है. न सिर्फ शर्मशार किया है बल्कि अपने मासूम बच्चों, वो बच्चे जिन्हें देश का भविष्य कहा जाता है, की सुरक्षा को लेकर भी चिंतित कर दिया है. मानवीयता को शर्मशार करने वाली, महिलाओं/बच्चियों तक से बलात्कार की काफी घटनाएँ आपने सुनी होंगी.. लेकिन ऐसी घटना शायद न तो कभी सुनी होगी और न ही कभी कोई सुनना चाहेगा. लेकिन ऐसा हुआ है तथा देश की राजधानी दिल्ली में हुआ है.

3 तलाक से बेहतर ह्त्या की धारा लगवाना समझा उन दरिंदों ने.. मिट्टी का तेल डालकर जलाने ही वाले थे उस विवाहिता को

48 वर्षीय मोहम्मद शाहिद को दिल्ली पुलिस ने हाल ही में गिरफ्तार किया है. शाहिद की गिरफ्तारी के बाद ऐसे खुलासे हुए हैं, जिसे सुन शर्म भी शर्म से शर्मशार हो उठी. मोहम्मद शाहिद मासूम बच्चों का लालच देकर, चोकलेट, बिस्किट आदि के बहाने अपहरण करता था, फिर उनको नंगा कर उनका वीडियो बनाता था, इसके बाद उनके साथ कुकर्म किया करता था. पुलिस पूंछताछ में हैवान मोहम्मद शाहिद ने जब अपने गुनाहों को कबूलना शुरू किया तो पुलिस के भी होश उड़ गये.

बंगाल के बर्दवान ब्लास्ट में था बांग्लादेशी हाथ.. वो बांग्लादेशी जिसकी पैरोकारी करता है एक ख़ास वर्ग

हैवान मोहम्मद शाहिद को दिल्ली की चांदनी महल पुलिस ने गिरफ्तार किया है. बताया गया है कि वह छोटे बच्चे-बच्चियों को ही शिकार बनाता था. किडनैपिंग के बाद दुष्कर्म व कुकर्म की वारदात को अंजाम देने के बाद ही उसकी सनक पूरी होती थी. पुलिस का अब इस बात पर फोकस है कि आखिर दिल्ली के अलावा और कितने शहरों में मासूमों को इसने अपना शिकार बनाया. दिल्ली-एनसीआर के मिसिंग बच्चों की डिटेल भी पुलिस चेक कर रही है. पता चला है कि शाहिद जहां भी जाता था, वहां मासूम को टारगेट बना लेता था. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि 20 अगस्त को एक नाबालिग किशोर के लापता होने की शिकायत चांदनी महल थाने में दर्ज हुई.

रिपोर्ट में दावा .. देश के लगभग 50% पुलिस वाले मुसलमानों के बारे में सोचते हैं ये सब… सुधार किस में जरूरी .. पुलिस में या …. ?

उन्होंने बताया है कि किशोर की मां ने उसे रुपए नहीं दिए तो वह घर छोड़कर बाहर चला गया था. पुलिस ने घर जाकर इस किशोर के बारे में जानकारी जुटानी शुरू की. उसकी फोटो दिखायी गई. इस दौरान पुलिस को एक लड़के ने जानकारी दी कि शाहिद नाम के एक शख्स ने इस लड़के को अपने घर रख रखा है. यह पता चलने पर मंगलवार तड़के पुलिस ने आरोपी के घर दबिश डाली, जहां से इस लड़के को मुक्त कराया गया. लड़के को मेडिकल जांच के लिए अस्पताल भेजा गया, जहां उसके साथ कुकर्म होने की पुष्टि हो गई. इस लड़के ने पुलिस को बताया आरोपी ने उसे परेशान देखा तो बात की.

भाजपा से लड़कर पस्त कांग्रेस अब आपस में भिड़ गई.. दो कद्दावर कांग्रेसियों की जंग से राहुल गांधी परेशान

पुलिस के मुताबिक आरोपी शाहिद के कब्जे से जो मोबाइल मिला है उनमें ढेरों पॉर्न क्लिप थीं. पूछताछ में उसने कबूल किया है कि वह ब्लू फिल्में देखने का शौकीन है. शाहिद ने बताया कि मोबाइल क्लिप को देखते हुए मासूमों से दरिंदगी करता था. पुलिस इस बात से ताज्जुब है कि उसको अपने आस पड़ोस में सीधे-साधे युवक के तौर देखा जाता है. पुलिस पूछताछ में पता चला कि ज्यादातर वारदातें रात के अंधेरे में उसने अंजाम दी हैं. शाम ढलते ही या सुबह होने से पहले वह शिकार की तलाश में रहता था. ऐसे टाइम पर जहां लोगों की आवाजाही कम हो जाती थी, वह बच्चों को अपने चंगुल में फंसा लेता था.

जिसको पता ही नहीं बंगाल में अशांति का सबसे बड़ा गुनाहगार , उसको दे दिया गया था सबसे बड़ा पुरष्कार..

शाहिद ने कबूला है कि उसके निशाने पर घर के बाहर अकेले खेल रहे बच्चे व बच्चियां होती थीं. शाहिद की यह कोशिश होती थी कि वारदात के बाद वह कोई सबूत मौके पर न छोड़े, जिसके चलते वह बच्चों को जान से मारने की धमकी देकर छोड़ देता था. दरिंदगी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वह किसी भी बच्चे को टॉफी, चॉकलेट या पैसों का लालच देकर अपने साथ ऐसी जगह ले जाता है जहां उसकी शैतानियत के आगे मासूम की चीख चारदीवारी में दबी रह जाए. यहां मासूम बच्चे से पहले अपनी हवस मिटाने की कोशिश करता है, जब वह नाकाम होता है तो उन बच्चों सुनसान जगहों

अखिलेश के करीबी आज़म खान पर चल ही रहा था क़ानून का डंडा.. अब एक और करीबी भोगेगा कर्मों का फल

पुलिस को तहकीकात में पता चला है कि शाहिद पेशे से इलैक्ट्रिशिन है. उसके कबूलनामे से मासूमों के साथ बेहद डरावनी हकीकत खुलती जा रही है. बाहर से चुप सा रहने वाला शाहिद का दिमाग इस कदर खौफनाक होगा, यह सोचकर पुलिस भी सन्न है. मासूमों को देखकर साइको होने वाले शाहिद के बारे में दिल्ली-एनसीआर के अलावा अलीगढ़, बदायूं, गंजडुंडवारा और अन्य शहरों से जानकारी जुटाई जा रही हैं. पुलिस ने बताया कि उसने यूपी पुलिस भी संपर्क साधा है तथा शाहिद के बारे में और भी जानकारियाँ जुटाई जा रही हैं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...