जयपुर के रफीक के साथी सिकंदर की दरिंदगी बना गई रिकॉर्ड.. बच्ची, बच्चे और किन्नर कोई नहीं बचा उससे.. बोला- “अफ़सोस बच्ची को मार नहीं पाया”


सीरियल रेपिस्ट, ये शब्द सुनकर आप एक ऐसे शख्स की कल्पना करते हैं, जिसने एक के बाद एक महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बनाया हो. लेकिन हम जिस शख्स की करतूत आपके सामने रखने वाले हैं. उसके लिए ये शब्द भी छोटा नजर आता है. वो एक ऐसा दरिंदा है, जिसने मासूम बच्चियों, बच्चों के अलावा पुरुषों और किन्नरों को भी अपनी हवस का शिकार बना डाला. उस पर कुछ ऐसा जुनून सवार होता था कि उसने किसी को नहीं छोड़ा. उसके गुनाह की फेहरिस्त इतनी लंबी है कि पुलिस को पूछताछ में कई घंटों का वक्त लगा.

अब रेलवे अपनाएगी ये तकनीक , यात्रियों के लिए खुशखबरी..

हम बात कर रहे हैं राजस्थान की राजधानी जयपुर में 7 साल की मासूम से बलात्कार करने वाले हैवान दरिन्दे सिकंदर उर्फ़ जीवाणु की. बता दें कि सिकंदर ने 1 जुलाई को जयपुर के शास्त्री नगर में नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था. इसके बाद जयपुर में काफी हंगामा हुआ था. इसके बाद पुलिस ने सिकंदर को काफी मशक्कत गिरफ्तार किया तथा उससे पूंछताछ की. पुलिस पूंछताछ में सिकंदर ने जो बताया, उसे सुन पुलिसवाले भी दंग रह गये.

बंगाल में पकड़ा गया बांग्लादेशियों के लिए पकड़ा गया हथियार.. नकली सेक्यूलरिज्म एक नई दिशा दे रहा देश को

पुलिस की पूंछताछ में सिकंदर ने खुद ही अपने गुनाहों का काला चिट्ठा खोल दिया, वो काला चिट्ठा जिसे जान आपके भी रौंगटे खड़े हो जायेंगे. पुलिस वाले हैरान थे कि उनके हाथ आया शख्स सिकंदर उर्फ़ जीवाणु ऐसा कुख्यात अपराधी है, जिसने एक नहीं दो नहीं बल्कि 65 से ज्याडा रेप की वारदातों को अंजाम दिया. सिकंदर उर्फ जीवाणु ने पुलिस को पूछताछ में कहा कि वो जब भी जेल से छूटेगा, तो पुलिस को उसकी ख़बर देने वाले को मौत देगा.

दर्जनों बच्चियों का बलात्कार करके मदरसा प्रिंसिपल बोला- “मैंने इन पर एहसान किया है” .. बताई बलात्कार की उसके अनुसार वजह

सिकंदर ने पुलिस को बताया कि शास्त्री नगर में उसने नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार किया था. वो उस बच्ची की हत्या करना चाहता था. पूछताछ के दौरान जीवाणु ने कोटा में अपने दोस्त की नाबालिग बच्ची को भी शिकार बनाया था, लेकिन उसकी हत्या नहीं करने को वो अपनी सबसे बड़ी भूल बता रहा है. सिकंदर ने बताया कि वह अब तक 25 से ज्यादा नाबालिग लड़कों को अपनी हवस का शिकार बना चुका है. यही नहीं उस सीरियल रेपिस्ट जीवाणु ने 40 पुरुषों और किन्नरों का भी अप्राकृतिक यौन शोषण किया है. वह महिलाओं की तुलना में कम उम्र के पुरुषों के साथ अप्राकृतिक यौन शोषण करता था तथा ऐसा न होने  महिलाओं व बच्चियों को शिकार बनाता था.

बच्चियों का बलात्कार करके प्रिंसिपल बोला- “मैंने इन पर किया एहसान…..

सिकंदर उर्फ जीवाणु के कई नाम हैं. उसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है. उसने अपने एक साथी के साथ मिलकर लूट और चोरी की वारदातों को भी अंजाम दिया है. दोनों के बीच एक रात में ज्य़ादा से ज्यादा चोरियां करने का कम्पिटीशन होता था. सिकंदर ने ही अपना नाम जीवाणु और अपने साथी का नाम कीटाणु रखा था. पुलिस पूछताछ में सिकंदर उर्फ़ जीवाणु ने बताया कि वह 1 जुलाई को शास्त्री नगर में नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म के बाद 2 जुलाई को जयपुर में ही नाई की थड़ी के पास छिपा था. मीडिया में सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद वह फरार हुआ था. इसके बाद वह सांगानेर में जाकर मजदूरों के साथ फुटपाथ पर सोया.

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया एलान.. सड़क हादसों को कम करने के लिए तैयार है 14 हज़ार करोड़ का मास्टर प्लान

4 जुलाई को आरोपी जीवाणु टोंक की ओर चला गया था और फिर 5 जुलाई को देवली के ठेके पर सेल्समैन से झगड़ा किया. वहां भी वह मैनेजर सोहन लाल को गोली मारकर 20 हजार रुपये लेकर फरार हो गया. देवली में लूट के बाद में आरोपी जीवाणु कोटा में अपने दोस्त के पास छिपा हुआ था. बाद में पुलिस रेपिस्ट के मोबाइल नंबर की लोकेशन को खंगालते हुए कोटा तक पहुंची. शनिवार की शाम 5 बजे रेपिस्ट सिकंदर कोटा में भीमगंज में बाबू चाय वाले की थड़ी पर चाय पी रहा था तभी पुलिस ने उसे धर दबोचा.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...