केन्द्रीय मंत्री का क़ुतुबमीनार पर बयान मुहर है सुदर्शन न्यूज के “आपरेशन इतिहास” पर. बोला वो सच जिसको बहुत पहले बता दिया था सुरेश चव्हाणके जी ने


इस सच को बहुत पहले ही सुदर्शन न्यूज के प्रधान सम्पादक श्री सुरेश चव्हाणके जी ने अपने कार्यक्रम आपरेशन इतिहास के माध्यम से बता दिया था.. बाकायदा तथ्यों और प्रमाणों के साथ उस समय ये साबित किया गया था कि जिसको मुगलकालीन कृति बना कर प्रस्तुत किया जाता है वो असल में या तो हिन्दू सम्राटो द्वारा निर्मित वास्तु कला थी या तो हिन्दू प्रतीकों को ध्वंस कर के उस पर रखी गई अपनी एक निशानी .. ये अयोध्या से ले कर काशी और दिल्ली हर कहीं दिखाई देगा.

उत्तर प्रदेश में NRC लागू करने की मांग करने वाला है मुसलमान.. किया दावा- “मदरसे खंगालो, मिलेंगे बांग्लादेशी”

तेजोमहालय को ताजमहल बनाने की चर्चा आये दिन होती ही रहती है और अब केन्द्रीय मंत्री ने कुतुबमीनार के बारे में जो कहा उसको शत प्रतिशत मुहर के रूप में माना जा रहा है सुरेश चव्हाणके जी के आपरेशन इतिहास शो पर.. केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने शनिवार (31 अगस्त, 2019) शाम दिल्ली में स्मारक की रोशनी का उद्घाटन करने के दौरान कुतुब मीनार को ले कर दिया है एक बेहद सधा और सटीक बयान जिसके बाद फिर से चर्चा में आ गया है भारत का असली इतिहास.

अब्बा के साथ नहीं सोई तो इसे गलत माना शौहर ने.. तीन तलाक की एक ऐसी भी वजह

केन्द्रीय मंत्री श्री पटेल ने कहा की भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) को स्मारक के इतिहास और महत्व को ध्यान में रखते हुए इस पर तख्ती लगानी चाहिए। पटेल ने कहा, ‘जिस समय एएसआई ने कुतुब मीनार को अपने संरक्षण में लिया, उस समय योगमाया मंदिर अस्तित्व में था। हर किसी को हैरानी है कि उस विशेष मंदिर को एएसआई को क्यों नही सौंपा गया, हो सकता है कि वह दैनिक पूजा का स्थान था।’ आगे बोलते हुए श्री पटेल ने कहा कि कुतुब मीनार हमारी संस्कृति का सबसे बड़ा उदाहरण है।

सत्ता का भयानक दुरूपयोग मध्य प्रदेश में.. घर में घुस गया कांग्रेस नेता और पिस्टल लगा दी महिला के भाई पर

केन्द्रीय मंत्री के अनुसार यह एक ऐसा स्मारक है, जो 27 मंदिरों को ढहाकर बना था और आजादी के बाद भी यह विश्व धरोहर है। उन्होंने इस दौरान परिसर में मौजूद 24 फीट ऊंचे लोहे के स्तंभ का भी उल्लेख किया। उन्होंने  कहा, ‘यह लौहस्तंभ स्मारक से सदियों पुराना है। खुले आसमान में अस्तित्व के 1,600 साल बाद भी इसमें जंग नहीं लगा है।’फिलहाल केन्द्रीय मंत्री श्री प्रहलाद पटेल के द्वारा बोले गये इस सच के बाद उनकी हर तरफ खुल कर प्रसंशा हो रही है..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...