Breaking News:

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही जताई जनसंख्या विस्फोट पर चिंता वैसे ही सबको याद आ गई सुरेश चव्हाणके जी की भारत प्रदक्षिणा, जनसंसद और अथक संघर्ष

आज लाल कोट पर भारत के स्वाधीनता दिवस के अवसर पर देश और दुनिया भारत के प्रधानमन्त्री का उद्बोधन देख और सुन रही थी . सबको ये एहसास था कि धारा 370 हटने और पाकिस्तान की तनातनी के बीच में दुश्मन देश कोई कड़ा संदेश जाएगा .. लेकिन भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने जो बात कही जो असल में देश की तमाम समस्याओ की जड़ से जुडी हुई है .. ये वो आवाज थी जिसको सुरेश चव्हाणके जी ने भारत भर की यात्रा के दौरान जन जन की आवाज बना दिया है .

प्रधानमन्त्री मोदी जी ने कहा कि सिर्फ उतने ही सन्तान पैदा करने चाहिए जितने का पालन पोषण सही ढंग से किया जा सके .. लाल कोट से देश और दुनिया को सम्बोधित करते हुए उन्होंने बताया कि देश के संसाधनो का सही ढंग से सदुपयोग हो उसका अनुपात सही होना चाहिए .. मोदी जी के इस अभिभाषण के बाद अब ये माना जा रहा है कि सुरेश चव्हाणके जी द्वारा शुरू की गई एक बेहद जरूरी अलख सत्ता के शीर्ष के संज्ञान में है और जल्द ही इस पर कडा कानून बनने की सम्भावना है .

जैसे ही प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी ने ये शब्द कहे हर किसी की नजर उन तमाम घटनाओ की तरह घूम गई और सुरेश चव्हाणके जी के उन तमाम संघर्षो की तरह चली गई जिसको उन्होंने पूरे भारत की यात्रा के दौरान और बीच में जनसंसद आदि कर के किया .. संसाधन की कमी , आर्थिक कमी और विरोधियो के तमाम झूठे अफवाहों आदि की चिंता न करते हुए जिस प्रकार से सुरेश चव्हाणके जी ने अपने घर को 3 माह के लिए त्याग कर इसको जनता की आवाज बनाया वो दृश्य सबको याद आ गया..

हर किसी को याद आने लगा कश्मीर की यात्रा से पहले विधायक राशिद इंजिनियर की धमकी , फिर उडीसा में संदिग्ध का वाहनों का नम्बर नोट करना , फिर पश्चिम बंगाल में वामपंथियो द्वारा किया गया बवाल, फिर हैदराबाद में सत्ता की तरफ से भेजी गई पुलिस , फिर आंध्र में हुई पत्थरबाजी , फिर केरल में हुआ सरकारी दमन , फिर मुंबई पुलिस का कट्टरपन्थियो के आगे घुटने टेकना और न जाने कितने कट्टरपन्थियो की धमकियां सोशल मीडिया पर और वीडियो जारी कर के देना .

बाधा चाहे सरकारी तन्त्र ने डाली रही हो या किसी आपराधिक गैंग ने , कोई भी सुरेश चव्हाणके जी के कदमो को रोक नहीं आये थे और उसके बाद तमाम केंद्रीय मंत्रियों का जनसंसद में जमा होना सबका सुरेश चव्हाणके जी से सहमत होना इस बात की तरफ पहला इशारा था कि बात अब दूर तक निकल चुकी है . आखिरकार अब खुद प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी ने स्वीकार किया है कि जनसंख्या विस्फोट देश के लिए खतरा है तो अब ये माना जा रहा है कि जल्द ही अब इस पर कडा कानून भी बनेगा .

देखए सुरेश चव्हाणके जी ने किस प्रकार से मोदी जी को धन्यवाद किया ..-

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW