भगवा वस्त्रों में दिखने वाले कमलेश तिवारी के दोनों हत्यारों के नाम आये सामने.. इसे ही कहा जाता है पीठ में छुरा भौंकना


हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा प्रखर हिन्दू राष्ट्रवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड का खुलासा हो गया है. कमलेश तिवारी हत्याकांड का खुलासा गुजरात ATS ने किया गया है. भगवा वस्त्र पहिनकर कमलेश तिवारी की ह्त्या करने आये हमलावरों की पहिचान हो गई है. जानकारी मिली है कि कमलेश तिवारी की ह्त्या की साजिश सूरत में रची गई थी.

जिन हत्यारों ने कमलेश तिवारी की ह्त्या को अंजाम दिया है उनकी पहिचान फरियद्दीन पठन और अशफाक शेख के रूप में हुई है. यही वो दो हत्यारे थे जो भगवा पहिनकर कमलेश तिवारी से मुलाकात करने के लिए आये थे तथा फिर इस्लामिक आतंकी दल ISIS के अंदाज में गला रेतकर कमलेश तिवारी की ह्त्या कर दी. पता चला है कि हमलावरों ने सूरत की एक दूकान से मिठाई खरीदी थी तथा उसी मिठाई के डिब्बे में हमलावर हथियार लेकर आये थे.

फिलहाल इस मामले में गुजरात ATS ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. ये वो तीन लोग हैं जिन्होंने सूरत में मिठाई खरीदी थी. लेकिन जिन लोगों ने कमलेश तिवारी की ह्त्या को अंजाम दिया, उनकी पहिचान कर ली गई है. बताया गया है कि फरियद्दीन पठन और अशफाक शेख ने कमलेश तिवारी की ह्त्या की है. हालाँकि अभी फरियद्दीन पठन और अशफाक शेख की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...