सुप्रीम कोर्ट में उस दुर्दांत मुगल लुटेरे को बताया गया सबसे उदार जिसने बहा दी थीं हिन्दुओ के रक्त की नदियाँ


हैरत भरी बात थी ये जब एक तरफ मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम को काल्पनिक बताने के साथ उनकी जन्मभूमि को भी बाबर की जमीन बताने की साजिश चल रही थी तो ठीक उसी समय एक ऐसे नरपिशाच को महान उसी जगह पर बताया जा रहा था जिसने जीवन में सिर्फ और सिर्फ गैर मजहबी लोगों की हत्या के साथ लूट और बलात्कार किया था. वो नरपिशाच से किसी भी रूप में कम नहीं था लेकिन उसके बाद भी उसकी महानता का गुणगान कोर्ट में किया गया .

भले ही हिन्दू समाज में कुछ अति आधुनिक लोग अपने मूल संस्कारों से न सिर्फ भटका दिए गये हैं बल्कि वो उसके विरोधी हो गये हैं पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने जिसे आदर्श माना है उसको जान कर हर कोई हैरत से भर उठेगा .. अयोध्या मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान हिन्दू समाज को जितना हो सका उतना अपमानित करने के बाद अब मुस्लिम पक्ष ने सीधे सीधे औरंगजेब को सबसे महान , करुणा वाला और दयालु मुगल शासक अदालत में आधिकारिक रूप से बताया है ..

श्री राम जन्मभूमि-बाबरी विवाद में मुस्लिम पक्षकारों के एक वकील ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि भारत को समरूपता वाला देश नहीं माना जा सकता है और भारतीय समाज यूरोप की तुलना में अधिक जटिल है. इतना ही नहीं, मुस्लिम पक्षकारों की ओर से पेश अधिवक्ता राजीव धवन ने यह कहकर अदालत में हलचल पैदा कर दी कि औरंगज़ेब सबसे उदार शासकों में से एक था. इस बयान को पूरा देश फिलहाल स्वीकार नहीं कर पा रहा है क्योकि लगभग हर किसी के जेहन में इतना पहले से तय है की औरंगजेब क्या और कैसा था .. फिलहाल इसी के साथ अपनी एक मनोभावना देश के आगे मुस्लिम पक्ष ने रखा है ये भी एक जानकारी का विषय है .


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...