Breaking News:

“अयोध्या में विवादित जगह पर हम पढ़ते आये हैं नमाज़” सुप्रीम कोर्ट में बाबरी पक्षकारों ये कहने पर प्रभु श्रीराम के पक्ष ने दिया एक शानदार जवाब

सुप्रीम कोर्ट में भगवान् श्रीराम के पक्षकार और बाबरी के पक्षकार आमने सामने हैं और लगातार सुनवाई चल रही है . आये दिन सुप्रीम कोर्ट की तल्ख़ टिप्पणी लोगों के बीच मीडिया के माध्यम से आ रही हैं जिसमे ये सबसे चर्चित रही है कि प्रभु श्रीराम का कोई वंशज जीवित है क्या . यद्दपि ऐसा कहने के बाद भारत भर में कई लोग सामने आये और खुद को श्रीराम का वंशज कहा है .. इतना ही नहीं इस मामले में दिल्ली के भाजपा नेता राहुल जैन ने एक जुलूस तक का एलान कर दिया है .

इन्ही कानूनी कार्यवाही के दौरान अब एक और मामला निकल कर बाहर आया है .. अदालत में बाबरी के पक्षकार ने अयोध्या की उस पवित्र भूमि पर अपना मालिकाना हक होने के पीछे ये दलील दी थी कि चूंकि मुस्लिम समुदाय उस भूमि पर काफी पहले से नमाज़ पढ़ता आ रहा है इसलिए अयोध्या की वो भूमि उनकी होनी चाहिए .. मुस्लिम पक्ष मात्र कुछ तथाकथित इतिहासकारों की किताबो के और कोई ठोस प्रमाण भी अब तक मीडिया के आगे नहीं रख पाया है फिर भी उसकी अदालत में लगातार सुनवाई हो रही है .

चूंकि हम वहां नमाज़ पढ़ते थे इसलिए वो जमीन हमारी है का जवाब प्रभु श्रीराम के पक्षकारों ने बेहद शानदार अंदाज़ में दिया है और उनसे सवाल किया कि-  कई बार सडको पर भी नमाज़ पढ़ी जाती है , क्या उस सडक को भी बाद में अपनी जमीन या मस्जिद घोषित कर दोगे ? श्रीराम के पक्षकारों का ये प्रशन उनके लिए अनुतरित है …इतना ही नहीं , श्रीराम के पक्षकारों ने यहाँ तक कहा कि अयोध्या में विवादित ढांचा बदनीयती से बनवाया गया था . सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संविधान पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है।

Share This Post