तालिबानी अंदाज में पहले अपहरण किया, फिर किया बलात्कार.. अब मिल रही मौत की धमकी जिस पर खामोश हैं नारी सम्मान के तमाम तमाम ठेकेदार

आखिर वो कौन सी सोच है जो अपनी हवस की पूर्ति के लिए दरिंदगी की सारी हदें पार कर देती हैं? वो कौन सी सोच है जिसके लिए महिला वर्ग हवस मिटाने का साधन मात्र है? क्या ऐसी सोच से ग्रसित लोग इन्सान कहलाने लायक हैं जो इंसानियत की तमाम मर्यादाओं को तार तार करते हुए महिलाओं, यहां तक कि मासूम बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बना लेते हैं, उनके बचपन को अपनी हवस के पैरो तले कुचल देते हैं, उनके जीवन को बर्बाद कर देते हैं?

इसी जाहिल आदमियत वाली सोच का शिकार हरियाणा के पलवल की नाबालिग बच्ची हुई है जिसका उसी के गाँव के सैफ्ली व मुफीद नामक दो युवकों ने अपहरण कर लिया. इसके बाद उसे सुनसान जगह पर ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया. जब पीड़िता ने विरोध कर घर बताने की बात कही तो उसे जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए. पीड़िता के परिजनों ने दोनों आरोपियों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है. पीड़िता के परिजनों ने बताया कि 14 दिसंबर की रात घर पर सब सोए हुए थे. उसी दौरान उसकी बेटी शौचालय जाने के लिए घर से बाहर निकली. उसी समय गांव निवासी सैफली व मुफीद ने उसे अकेला देख अपहरण कर लिया. इसके बाद वह पीड़िता को सुनसान जगह पर ले गए. जहां पर दोनों युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया.

पीड़िता के परिजनों ने बताया कि थोड़ी सी सुबह हुई तो वह मौके से फरार हो गए और उससे कहा कि अगर पीड़िता ने इसके बारे में किसी को भी बताया तो वह उसे जान से मार देंगे. सुबह जैसे-तैसे बदहवास अवस्था में वह घर पहुंची और आपबीती परिजनों को बताई. पुलिस ने पीड़ित की बेटी की डॉक्टरी जांच कराई है जहां पर उसके साथ दुष्कर्म की पुष्टि हो गई. पुलिस ने शिकायत के आधार पर दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस का कहना है कि फिलहाल आरोपी पुलिस गिरफ्त से फरार चल रहे है लेकिन जल्द ही दोनों को पकड़ लिया जाएगा.

Share This Post

Leave a Reply