पहले जॉन सलूजा बना फिर राज उपाध्याय तथा तबाह कर दी दो हिन्दू युवतियों की इज्जत जिन्दगी.. लेकिन वो न तो राज था और न ही जॉन सलूजा बल्कि..

ये खबर उन लड़कियों तथा प्रेम के कथित ठेकेदारों को जरूर जाननी चाहिए जो ये कहते हैं कि लव जिहाद कुछ नहीं होता है. वो पहले जॉन सलूजा बना तथा एक हिन्दू युवती को जाल में फंसाया फिर राज उपाध्याय बना तथा एक अन्य हिन्दू युवती को जाल में फंसाया व् दोनों की जिन्दगी को तबाह कर दिया जबकि वो न तो जॉन था और न ही राज उपाध्याय बल्कि व दानिश अली था. जी हाँ वो दानिश अली जो नाम बदलकर हिन्दू युवतियों को अपने जाल में फंसाता था तथा उनके जीवन को तबाह करता था.

मायावती का आरोप- “मुसलमानों को टिकट नहीं देने की सलाह दी थी अखिलेश ने” .. बसपा और सपा फिर भिड़े

मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर का है जहाँ के जाजमऊ निवासी मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी के मार्केटिंग मैनेजर दानिश अली ने इंदौर में तैनाती के दौरान खुद को हिंदू बताकर दो युवतियों की जिंदगी बर्बाद कर दी. दानिश ने एक युवती से शादी की और दूसरी लड़की से सगाई कर शारीरिक शोषण किया. दोनों पीड़ित युवतियां के द्वारा कानपुर एसएसपी को दी गयी तहरीर पर पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है.

24 जून: जन्मदिवस क्रांतिवीर दामोदर हरी चापेकर जी.. जिन्होंने त्याचारी अंग्रेज अफसर रेंड का वध कर फूँका था स्वतंत्रता क्रांति का बिगुल

खबर के मुताबिक़, इसी मई माह के आखिरी सप्ताह में कोतवाली पहुँची इंदौर की एक युवती ने एसपी पूर्वी राजकुमार को बताया था कि 2009 में उसकी मुलाकात जाजमऊ अहमद नगर निवासी एमआर दानिश अली से हुई थी. तब दानिश ने अपना नाम जॉन सलूजा और धर्म हिन्दू बताया था. इसके बाद दोस्ती करके उसे कानपुर लाया. यहां एक मंदिर में शादी रचाई. बाद में पता चला कि दानिश हिन्दू नहीं, मुस्लिम था. उसने दो बार गर्भपात कराया. पुलिस को दी गयी तहरीर के मुताबिक़ दानिश ने पहली पत्नी को तलाक देने के बाद इंदौर के एक होटल के मैनेजर की बेटी को अपने प्यार के जाल में फंसाया.

शामली पुलिस ने एक बार फिर निर्भयता दी समाज को… अवैध हथियारों को बनाने वाला आलीशान दबोचा गया

पीड़ित युवती के मुताबिक़ दानिश उसे अपना नाम राज उपाध्याय व पता मुंबई बताकर मिला था. वर्ष 2015 में उसने शादी का प्रस्ताव रखा तो घरवाले तैयार हो गए. 2016 में उसने सगाई कर ली और लगातार शारीरिक संबंध बनाता रहा, लेकिन जब दीपावली पर किसी काम से उसका बैग देख रही थी तो उसमें दानिश नाम की आइडी मिली. तब असलियत का पता लगा. वह कहता था कि वह मूलरूप से मेरठ का है. पिता हिंदू व मां मुस्लिम है. फरवरी 2019 में उसने शादीशुदा व मुस्लिम होने की बात कहकर शादी से इन्कार कर दिया. तब इंदौर में दुष्कर्म का मुकदमा लिखाया.

24 जून – बलिदान दिवस नारी शक्ति की प्रतीक वीरांगना रानी दुर्गावती,, जिन्होंने कामुक और अत्याचारी अकबर को तीन बार युद्ध में हराया तथा आज के दिन प्राप्त की थी वीरगति

पुलिस को दी गई शिकायत में युवतियों ने आगे बताया है कि दानिश उन्हें जाकिर नाइक के वीडियो दिखाता था. इसके साथ ही बगदादी के वीडियो दिखाकर इनके मन में भय पैदा करता था. मुस्लिम युवक दानिश पर यह भी आरोप है कि वह इस्लाम धर्म अपनाने के लिए दबाव डालता था. दानिश की जिहादी सोच यहीं ख़त्म नहीं होती है बल्कि पीड़ित युवतियों के मुताबिक आरोपित ने इंदौर में ही चार और युवतियों को प्रेमजाल में फंसाकर उनका शारीरिक शोषण किया. वे युवतियां भी इंदौर में मुकदमा लिखाने वाली हैं.

12 साल की मासूम की मासूम की रूह कंपा देने वाली दास्ताँ.. आलम व अब्दुल सहित दर्जनों लोग नशे की गोलियां देकर साल भर तक करते रहे बलात्कार..

पुलिस को बताया है कि दानिश उन युवतियों से समीर दुबे, बॉबी शर्मा व अनूप दीक्षित नाम बताकर मिला था. वहीं इस पूरे मामले पर एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि दानिश नामक युवक के खिलाफ युवती ने शादी करने और दूसरी ने सगाई करने का आरोप लगाया है. पहले से ही मुकदमे दर्ज हैं, जिनकी विवेचना चल रही है. परिजनों पर धमकी देने के आरोप में रिपोर्ट लिखाई गई है, जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post