हितेश को जलाकर मार डाला फिरोज, कुरैशी और उसके साथियों ने.. असहिष्णुता गैंग से कोई एक भी नहीं बोला कि ये भी है मॉब लिंचिंग

जिस दिन देश के 49 कथित बुद्धिजीवी ,लोग मॉब लिंचिंग तथा असहिष्णुता को लेकर अपनी चिंता व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख रहे थे, ठीक उसी दिन महाराष्ट्र के पुणे में मजहबी उन्मादी फिरोज तथा उसके साथियों ने हितेश मूलचंदानी नामक युवक हिन्दू युवक को ज़िंदा जलाकर मार डाला. लेकिन आश्चर्य कि असहिष्णुता का रोना रोने वाली कथित खान मार्केट गैंग का एक भी सदस्य मजहबी उन्मादियों द्वारा हितेश की क्रूरतम ह्त्या पर बोलने को तैयार नहीं है.

हिन्दू धर्म विवाह को मानता है जन्म जन्मान्तर का पवित्र बंधन. लेकिन इस्लाम में निकाह क्या है ? इसे बताया ओवैसी ने..

खबर के मुताबिक़, महाराष्ट्र के पुणे की कुणाल बार एवं रेस्तरां नामक बार में देर रात्रि हितेश मूलचंदानी अपने एक दोस्त के साथ इसी बार में होते हैं. तभी फिरोज खान नाम का शख्स अपने 4 अन्य साथियों के साथ शराब खरीदने इस बार में आता है. कुछ देर बाद खान बार के सामने ही पेशाब करने लगता है. उसकी इस बेहूदा हरकत पर हितेश मूलचंदानी, रोहित सुखेजा और कुछ अन्य दोस्त आपत्ति जताते हैं तो फिरोज भड़क उठता है तथा झगडा करने लगता है.

कैमरे पर खुद के सेकुलर होने का दावा कर रहे थे कांग्रेस विधायक इरफा.. भाजपा विधायक ने कहा – ” फिर बोल दो जय श्री राम”.. जानिए फिर क्या हुआ ?

जब हितेश इन लोगों को समझाने की कोशिश करता है तो पहले तो ये उन्मादी लोग हितेश मूलचंदानी के साथ दुर्व्यवहार करते हैं. फिर पेशाब का विरोध कर रहे एक और शख्स साहिल ललवानी को गाली देते हैं तथा कैलाश पाटिल के सर पर बियर की बोतल से वार करते हैं तो वह घायल हो जाता है. उन्मादी यहीं नहीं रुकते हैं बल्कि इसके बाद ये लोग हितेश मूलचंदानी को सफेद रंग की एक कार में जबरन डाल कर (अगवा) अपने साथ ले जाते हैं. पुलिस को इसके बाद हितेश का जला हुआ शव बरामद होता है. उन्मादी हितेश मूलचंदानी की जलाकर ह्त्या कर देते हैं.

एक और देश जहाँ मुसलमानों ने घोषणा कि खुद के खतरे में होने की.. मिल रही है मस्जिदों को बम से उड़ाने की चुनौती

जानकारी के मुताबिक़, हितेश मूलचंदानी कुणाल बार एवं रेस्तरां के मालिक रोहित सुखेजा के दोस्त थे. रोहित सुखेजा ने ही मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई और पूरा वाकया उन्हें बताया. रोहित सुखेजा की शिकायत दर्ज करने के बाद पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस ने हितेश मूलचंदानी के जले हुए अवशेष को मंगलवार की सुबह पिंपरी चिंचवड़ नगर निगम (पीसीएमसी) के पास एक खुले मैदान से बरामद किया. पुलिस ने इस मामले में शामिल पाँच लोगों में से एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया है जबकि बाकी चार आरोपितों की तलाश में जुटी हुई है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post