Breaking News:

पहली बार माउंट एवरेस्ट पर लहराया भगवा ध्वज.. जानिये किसने किया ये कारनामा ?


वो पल समस्त सनातनियों के लिए, दुनिया के किसी भी कोने में रहने वाले हिन्दुओं के लिए बेहद ही गर्व करने वाला, मन को आह्लादित करने वाला पल था जब पूज्य हिमालय की दुनिया की सबसे उंची चोटी पर पूज्य भगवा ध्वज लहराया गया. खबर के मुताबिक़, जिस हिमालय को हिंदुस्तान का माथा कहा जाता है, उस हिमालय की सबसे उंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के रहने वाले आरएसएस कार्यकर्ता विपिन चौधरी ने तिरंगे के साथ भगवा ध्वज भी गहराया तथा भगवे को सलामी भी दी.

आपको बता दें कि विपिन चौधरी पहाड़ों पर घूमने के शौक़ीन हैं तथा वह आरएसएस कार्यकर्ता हैं. विपिन चौधरी लगभग 10 वर्ष से भी ज्यादा समय से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हुए हैं. विपिन चौधरी उस समय दुनिया भर के हिन्दुओं के नायक बन गये जब उन्होंने 22 मई 2019 को विश्व की सबसे ऊंची पहाड़ माउंट एवरेस्ट की चोटी पर ना सिर्फ भारत की आन व बान तिरंगा फहराया बल्कि उन्होंने 8848 मीटर की ऊंचाई वाली चोटी पर भगवा झंडा लहरा कर आरएसएस की तरह ध्वज प्रणाम भी किया.

विपिन चौधरी ने अप्रैल के पहले सप्तह में नेपाल के रास्ते चढ़ाई शुरू की थी. लगभग दो महीने की कड़ी मेहनत से की गई चढ़ाई के बाद विपिन चौधरी माउंट एवरेस्ट की चोटी फतह करने में कामयाब रहे. गुरुवार को मुरादाबाद पहुंचे विपिन चौधरी का लोगों ने स्वागत ढोल नगाड़े के साथ किया. विपिन चौधरी ने बताया कि वो जब दिल्ली में रहते थे तो उन्हें वहीं अपने मित्रों से माउंट एवरेस्ट फतह करने की प्रेरणा मिली.

विपिन चौधरी ने कहा कि वो पहाड़ों पर तो घूमने जाते थे ही, उन्हें जब पता चला इससे ऊंचे-ऊंचे पहाड़ भी हैं तो उन्होंने दो संस्थानों से ट्रेनिंग लेकर विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फतह करने की ठानी और लगभग 50 दिन की कड़ी मेहनत के बाद वो इसमें कामयाब भी हो गए. उन्होंने कहा कि जब वह माउंट एवरेस्ट फतह करने की योजना बना रहे थे तब उन्होंने संकल्प लिया कि वह दुनिया की इस सबसे उंची चोटी पर राष्ट्रध्वज तिरंगा तो फहराएंगे ही लेकिन हिन्दुओं के परम पूज्य भगवा धवज को भी फहराकर प्रणाम करेंगे. उन्होंने कहा कि चूँकि हमारे लिए हिमालय भी पूज्य है इसलिए वहां भगवा लहराकर वह भाग्यशाली महसूस कर रहे हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share