मकान बनाने के लिए बलिदानी दीपक ने लिया था 20 लाख का लोन जो अभी भी बाकी था . जानिये उसे अब कौन भरेगा ?

एक सैनिक का जीवन आसान नहीं होता , राष्ट्र की रक्षा का जिम्मा उसके सर पर होता ही है , उसके साथ उसके अपने खुद के घर की जिम्मेदारियां भी .. कश्मीर के हेलीकाप्टर क्रैश में अमरता को प्राप्त करने वाले बलिदानी दीपक कुमार के साथ भी कुछ ऐसा ही था . उन्होंने अपने घर को बनवाने के लिए होम लोन लिया था जो लगभग 20 लाख का था . उनकी वीरगति के बाद उनके परिवार वालों पर इस लोन का पूरा भार पड़ गया था ..

लेकिन तभी हुआ एक ऐसा एलान जो उनके परिवार वालों के सर से जहाँ एक बड़ा बोझ उतार गया वहीँ पूरे इलाके में बन गया चर्चा का विषय .. हर किसी ने इस एलान की प्रशंसा की . ये एलान था भारतीय जनता पार्टी के मंत्री और स्थानीय जनप्रतिनिधि सतीश महाना का . वीर बलिदानी के प्रति सम्मान का भाव दिखाते हुए सतीश महाना ने सभी राजनेताओं के लिए एक नजीर पेश की है। शहीद दीपक पांडेय ने एलआईसी हाउसिंग से 20 लाख रुपए का होम लोन लिया था, जिसे व्यक्तिगत तौर पर चुकाने की घोषणा मंत्री ने की है।

कश्मीर में वीरगति प्राप्त करने वाले बलिदानी के परिवार में पहुच कर भारतीय जनता पार्टी के सतीश महना को पता चला कि वीर बलिदानी ने बैंक से लोन अपने परिवार वालों को छत देने के लिए लिया था . सतीश महाना ने दीपक के परिजनों से मिलकर बात की तब उन्होंने बताया कि दीपक ने मकान बनवाने के एलआईसी हाउसिंग से बीस लाख का कर्जा लिया था। कैबिनेट मंत्री का कहना है कि दीपक ने मकान बनवाने के लिए जितना भी कर्ज लिया है वह उनके द्वारा चुकाया जाएगा। दीपक कुमार को वीरगति  कश्मीर के बडगाम में मिली  थी जिसके बाद उनके घर में कोहराम मचा हुआ था .

Share This Post