मुख्तार अंसारी का बेटा निकला उससे भी 2 कदम आगे.. किसके लिए जमा कर रहा था वो मौत का सामान जिन्हें बचा लिया योगी सरकार ने - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

Breaking News:

मुख्तार अंसारी का बेटा निकला उससे भी 2 कदम आगे.. किसके लिए जमा कर रहा था वो मौत का सामान जिन्हें बचा लिया योगी सरकार ने


दुर्दांत अपराधी मुख्तार अंसारी.. वो मुख्तार अंसारी जो अभी जेल में बंद है तथा एक समय मर्जी के यूपी की राजनीति का पहिया तक नहीं हिलता था. एक कुख्यात अपराधी होने के बाद भी मुख्तार अंसारी को पूर्ववर्ती सरकारों में  राजनैतिक संरक्षण मिला हुआ था. जिसके कारण कोई अधिकारी भी मुख्तार अंसारी कब खिलाफ कोई कार्यवाही करना तो दूर इसके बारे में सोच भी नहीं सकता था. लोगों के लिए खौफ का पर्याय रहे कुख्यात मुख़्तार योगी सरकार में घुटनों के  बल है तथा जेल  की सलाखों के पीछे  है लेकिन ये खबर मुख़्तार नहीं बल्कि उसके बेटे अब्बास अंसारी के बारे में है.

मुख्तार अंसारी का बेटा अब्बास अंसारी उससे भी दो कदम आगे निकल गया है. खबर के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश पुलिस ने बाहुबली मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी के दिल्ली के वसंत कुंज स्थित घर पर छापेमारी की और 4,431 कारतूस समेत भारी मात्रा में करोड़ों के हथियार बरामद किए हैं. बसपा के टिकट पर मऊ जिले के घोसी से 2017 का विधानसभा चुनाव लडऩे वाला अब्बास अंसारी एक लाइसेंस पर छह विदेशी असलहे लेकर चलता है.

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

लेकिन मुख्तार के बेटे अब्बास की दादागीरी अब योगी सरकार की राडार पर आ चुकी है. बता दें कि 12 अक्टूबर को लखनऊ में अब्बास अंसारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी. एक ही हथियार के लाइसेंस पर 5 असलहे खरीदने का मुकदमा दर्ज हुआ था. साथ ही फर्जी तरीके से आर्म्स लाइसेंस को दिल्ली ट्रांसफर कराने का भी मुकदमा दर्ज हुआ था.  इसी मामले में अब्बास अंसारी के लखनऊ क्राइम ब्रांच और दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के वसंत कुंज स्थित अब्बास अंसारी के बंगले पर छापेमारी की. इस दौरान पुलिस को इटली, ऑस्ट्रिया, स्लोवेनिया की रिवाल्वर, बन्दूक और कारतूस मिले. यही नहीं, वहां से इटली और स्लोवेनिया से खरीदी गई डबल बैरल और सिंगल बैरल बंदूक भी बरामद की गई.

अब्बास अंसारी के पास से बरामद असलहों में इटली से आयातित .12 बोर की डबल बैरल और सिंगल बैरल बेरेटा गन के साथ ही ऑस्ट्रिया की ग्लॉक-25 पिस्टल के बैरल भी मिले हैं. लखनऊ की इंडियन आर्म्स कॉर्प से खरीदी गई .300 बोर की मैगनम रायफल, दिल्ली के राजधानी ट्रेडर्स से खरीदी .12 बोर की डबल बैरल बेरेटा गन और मेरठ के शक्ति शस्त्रागार से यूएसए की .357 बोर की रगर जीपी 100 रिवाल्वर भी मिलीं है. इनमें स्लोवेनिया से लाई गई एक रायफल जिसमें .223, .357, .300, .30, .30-60, .308 व .458 बोर के सात स्पेयर बैरल हैं.

इसके अलावा ऑस्ट्रिया की .380 ऑटो बोर की ग्लॉक-25 पिस्टल की एक स्लाइड बैरल, ऑस्ट्रिया की ही .40 बोर की ग्लॉक-23 जेन-4 की एक स्लाइड बैरल, .22 बोर की एक अन्य विदेशी पिस्टल का स्लाइड बैरल, ऑस्ट्रिया की .380 बोर की एक मैगजीन, ऑस्ट्रिया की .40 बोर की एक मैगजीन व ऑस्ट्रिया का ही एक लोडर भी पुलिस ने जब्त किया है. इटली और आस्ट्रिया की रिवाल्वर व बंदूक काफी ज्यादा मारक क्षमता वाली थी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share