वामपंथ शासित केरल में जिन्दा जला दी गई महिला पुलिसकर्मी सौम्या, घरों का दरवाजा पीट कर मांग रही थी मदद … जलाने वाले का नाम है एजाज

अचानक ही छा गई है ख़ामोशी कई उन चेहरों पर जो अब तक नारी के सम्मान के लिए तख्तियां ले कर निकल पड़े थे .. उनमे से ख़ास कर वो थे जो जगह और व्यक्ति को देख कर नारी का सम्मान मांगते हैं .. अब जो कुछ भी हुआ है वो किसी के भी रोंगटे खड़े कर देने के लिए काफी है लेकिन न जाने क्यों इस मामले में निभाए जा रहे हैं तथाकथित सेकुलरिज्म के सिद्धांत .. एक और बेटी बेरहमी से जला कर मार डाली गई है जो खुद पुलिस की स्टाफ थी और दूसरों को बचाने की जिम्मेदारी ले कर चल रही थी .

“विश्वास जीतने” की कोशिश को बड़ा झटका.. दिल्ली में गौ माता को काट कर सड़कों पर डाला था इमरान ने

इस बार एक शसक्त महिला को जिन्दा जलाया गया है और समाज को ये चुनौती मिली है वामपंथ शासित केरल में जहाँ के शासक अब तक महिला के सम्मान के मुद्दे पर दूसरे प्रदेशो के मुख्यमन्त्रियो और केंद्र सरकार को निशाने पर ले रहे थे . केरल के अलप्पुझा जिले में शनिवार को एक सीनियर सिविल महिला अधिकारी को एक ट्रैफिक पुलिस कर्मी ने जिंदा जला दिया। मृतक महिला पुलिस अधिकारी की पहचान हो गई है। उनका नाम सौम्या पुष्पाकरन है और उनकी उम्र 34 साल है।

17 जून: बलिदान दिवस तृतीय सरसंघचालक परमपूज्य बाला साहब देवरस जी.. भारतमाता के वो सपूत जिनका जीवन ज्वलंत प्रेरणा है धर्मपत पर चलते हुए राष्ट्र निर्माण के कार्यों की

समाचार एजेंसी मातृभूमि की एक रिपोर्ट के मुताबिक सौम्या पुष्पाकरन मवेलीक्करा के पास वल्लीकुलम स्टेशन में तैनात थी। 34 साल की सौम्या पुष्पाकरन जब दोपहिया वाहन से अपने घर आ रही थी, इस दौरान एक कार ने उन्हें टक्कर मार दी। इसके बाद कार से आरोपी बाहर निकला और उसके हाथ में कुल्हाड़ी थी। अपनी जान बचाने के लिए पुष्पाकरन भागी और पास के घर में शरण मांगी। आरोपी की पहचान एजाज के रूप में की गई है। एजाज पर आरोप है कि इसके बाद उनका अपहरण किया और उस पर पेट्रोल छिड़क दिया और आग लगा दी।

17 जून: “निर्वाण दिवस” राजमाता जीजाबाई.. भारतवर्ष की वो महान नारी शक्ति जिनके कारण आज भी गौरवान्वित है भारत का पावन इतिहास

पुलिस के अनुसार महिला पुलिसकर्मी जब ड्यूटी के बाद घर लौट रही थी तब आरोपी ने उसपर कथित रूप से पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी. पुलिस ने बताया कि पुलिसकर्मी की मौके पर ही मौत हो गई. पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है. महिला को जलाने के दौरान अपनी ही गलती से आरोपी एजाज भी झुलस गया था और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.  उन्होंने कहा कि हमले के कारण का पता लगाया जा रहा है. सौम्या पुष्पाकरन के पति विदेश में काम करते हैं और वो तीन बच्चों की मां हैं।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post