Breaking News:

क्या आप जानते हैं – “बनात उल इस्लाम” क्या है ?

बेहद खतरनाक है कश्मीर में सक्रिय कुख्यात हिज़्ब उल मुजाहिद्दीन का महिला आतंकी विंग बनात उल इस्लाम ,

कश्मीर में बुरहान वाणी जैसे गद्दारों को जब भी हमारी जाबाज़ फ़ौज घेर लेती हैं तब उनके सामने सिर्फ सामने से आ रही गोलियां ही चुनौतियां नहीं होती बल्कि उन्हें पीछे से मारे जा रहे पत्थरों से भी उतनी ही शक्ति से लड़ना पड़ता है ,

दुर्दान्त आतंकी संगठन जहां एक तरफ खुद की झूठी मर्दानगी का दावा ठोंकते हैं वहीँ दूसरी तरफ उनकी कायरता का प्रमाण उनके द्वारा बनाये गए महिला संगठनों से मिल जाता है ,, कश्मीर की कुछ अतिवादी विचारधारा की महिलाओं को वो अक्सर सेना से घिर जाने के बाद ढाल के रूप में करते हैं , और अक्सर उनमे से कुछ महिलायें कट्टरता की हद पार कर के उन आतंकियों से भी आगे निकल जाती हैं ,,

हिज़्ब उल मुजाहिद्दीन का महिला विंग बनात उल इस्लाम शांत कश्मीर को अशांत करने में उतना ही रोल निभा रहा है , घातक अस्त्रों की ट्रेनिंग और आतंक के हर गुर सीखीं महिलायें अक्सर ना सिर्फ दुर्दान्त आतंकियों की ढाल बन कर खड़ी हो जाती हैं बल्कि अक्सर हमारे जवानो के लिए प्राणघातक भी साबित होती हैं ,,

मानवता , मानवाधिकार , नियम , कानून जैसे अनगिनत बंधनो में जकड़ा हमारा जांबाज़ और कर्तव्यनिष्ठ जवान अपने बुद्धि बल और शौर्य बल से इनका सामना अपनी जान पर खेल कर करता है ,

सेना के विरुद्ध , भारत सरकार के विरुद्ध , गैर हिंदुओं के विरुद्ध आतंक फैलाना हिज़्बुल मुजाहिद्दीन के इस महिला विंग बनात उल इस्लाम का प्रमुख कार्य है और महिलाओं को आगे कर देने के कारण हमारे जवानो के लिए समस्या का प्रमुख कारण भी …

Share This Post