Breaking News:

फतवों की अजीबोगरीब फे‍हरिस्त.. कही मज़हबी उल्लेमा अगला फतवा महिला के छीकने पर न करदे जारी…

मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ फ़तवे जारी करने का सिलसिला ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है…. अजीबोगरीब फतवों की लंबी फे‍हरिस्ती है..चलिए इस पर भी एक नजर डाल लेते है…..

– नाहिद के खि‍लाफ 46 फतवे जारी किए गए। सन 2015 में म्यूजिकल रिएलिटी टीवी शो ‘इंडियन आइडल जूनियर’ की फर्स्ट रनर अप रही नाहिद के खि‍लाफ 46 फतवे जारी किए गए। उसका कसूर बस इतना था कि 25 मार्च 2017 को असम के लंका इलाके के उदाली सोनई बीबी कॉलेज में नाहिद को परफॉर्म करना था। फतवों पर नाहिद ने कहा कि उनका संगीत अल्लाह का तोहफा है और वो इस तरह की धमकियों के आगे झुककर अपना संगीत नहीं छोड़ेंगी।
– ऑल इंडिया फैजान-ए-मदीना कॉउंसिल ने कनाडा के मुस्लिम सोशल वर्कर तारिक फतह का सिर कलम करने के लिए 10 लाख 786 रुपए के इनाम का ऐलान किया था। कॉउंसिल की दलील थी कि तारिक ने अपने टीवी शो ‘फ़तेह का फतवा’ में ग़लत दलीलें दी थीं। ऐसी दलीलें जो देश में मुस्लिमों और गैर-मुस्लिमों के बीच झगड़े को बढ़ावा देती हैं।
– टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा की स्कर्ट पर कोलकाता के एक इस्लामी संगठन ने एतराज जताकर फतवा जारी कर दिया। उनके मुताबिक सानिया को छोटी स्कर्ट पहनकर टेनिस नहीं खेलना चाहिए।
– पैगंबर मोहम्मद पर बनी फिल्म में संगीत देने के कारण रहमान को मुस्लिम समुदाय के एक तबके का विरोध झेलना पड़ा। इस कारण उनके खिलाफ फतवा जारी किया गया। फतवे में कहा गया है कि पैगम्बर की जिंदगी को एक नाटक के रूप में पेश करना और उनके किरदार को गैर-मुस्लिम अभिनेता की ओर से निभाने गलत है। मजहब का मजाक उड़ाने के कारण रहमान को फतवा जारी कर दोबारा कलमा पढ़ने के लिए कहा गया था ।
– पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने ट्विटर पर अपनी सूर्य नमस्कार करते हुए तस्वीरें पोस्ट की थीं। जिसे दारुल उलूम ने मजहब के खिलाफ बताया है। सूर्य नमस्कार पर दारुल उलूम पहले भी फतवा जारी कर चुका है।
– शमी ने पत्नीव हसीन जहां के साथ तस्वी र पोस्टर की थी। इसमें उनकी पत्‍नी स्लींवलैस गाउन पहने होती हैं। इस पर कई कट्टरपंथियों ने आपत्ति जताई थी।
– भारत माता की जय कहने को लेकर इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम ने एक फतवा जारी किया था। इसमे कहा गया था कि भारत माता की जय
 बोलना मुसलमानों के लिए जायज नहीं है।
– हाल ही में जम्मू-कश्मीर से जारी फतवे में कहा गया है कि मुस्लिम महिलाओं को सार्वजनिक(पब्लिक) स्थानों पर अकेले नहीं जाना चाहिए। अगर ज़्यादा जरूरी है, तो घर के किसी मर्द के साथ ही जाना चाहिए।
– दारुल उलूम देवबंद ने मुस्लिम महिलाओं के लिए फतवा जारी किया, जिसमे कहा गया है कि मुस्लिम महिलाओं के लिए हेयर कटिंग और आइब्रो बनवाना नाजायज़ है। फतवा में कहा गया है, ‘इस्लाम में आइब्रो बनवाना और बाल कटवाना धर्म के खिलाफ है। कोई मुस्लिम महिला ऐसा करती है तो वो इस्लाम के नियमों का पालन नहीं कर रही है।’
फ़तवों की लिस्ट बहुत लंबी है। ऐसे अनगिनत अजीबोगरीब फ़तवे आए दिन जारी होते रहते है।
राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW