हिंदू लड़की को पता ही नहीं चला कि वो अर्जुन नहीं बल्कि राशिद है.. मिला करता था कलावा बांधकर तथा माथे पर तिलक लगाकर


राशिद अपने हाथ में कलावा बांधता था, मंदिर जाता था तथा खुद का नाम अर्जुन बताता था. वह जब भी किसी से मिलता तो “राम राम” का ही संबोधन करता था तथा मंदिर के सभी धार्मिक कार्यों में भाग भी लेता था. यही कारण था कि लोग उसको हिन्दू समझते थे. लेकिन इसके पीछे राशिद का उद्देश्य क्या था ये कोई नहीं जानता था. उस लड़की से भी वो अर्जुन बनकर ही मिला. लड़की की दोस्ती हुई, प्यार हुआ,  शादी भी हो गई तब जाकर लड़की को पता चला कि जिसके साथ उसने शादी की है वह अर्जुन नहीं राशिद है लेकिन तब तक लड़की की जिन्दगी तबाह हो चुकी थी.

जानकारी के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश के हाथरस के सासनी के गांव गारवगढी का एक मुस्लिम युवक गुजरात में कहीं नौकरी करता था, जहां उसने मध्यप्रदेश की एक युवती को लव जिहाद में फंसा लिया. युवक ने खुद का नाम अर्जुन बताया और उससे शादी कर ली. शादी के बाद युवती को पता चला कि जिससे उसने शादी की है वह अर्जुन नहीं बल्कि राशिद है. लेकिन अब युवती की शादी हो चुकी थी. जब युवती गर्भवती हुई तो उसका गर्भपात करा दिया. मगर अब वह उसे अपने साथ रखने को तैयार नहीं है.

अगस्त के महीने में राशिद उसे अपने गांव में रहने के बहाने बुलाकर ले आया और आगरा स्टेशन पर लाकर छोड़ दिया, लेकिन युवती के पास उसके गांव का पता लिखा हुआ था.

वह किसी तरह से सासनी कोतवाली पहुंच गयी. पुलिस ने युवक के पिता को पकड़ लिया. युवक का पिता उसे अपने साथ गांव ले गया. उसी वक्त हिन्दूवादी नेता शिवशंकर गुलाठी को जानकारी हुई तो वह सासनी पहुंच गये. उन्होंने युवती को अपना मोबाइल नंबर दे दिया और कहा कि अगर कोई दिक्कत हो तो वह तुरन्त उन्हें बताये. लिहाजा दो दिन बाद ही युवक उसे मुरसान के एक कोल्ड स्टोरेज पर ले गया और वहां युवती को बेचने की बात करने लगा. इसे लेकर वहां हंगामा हुआ. मारपीट तक हुई.

उसके बाद युवक फिर युवती को अपने साथ गुजरात ले गया. वहां उसे छोड़कर भाग निकला. युवती ने शिवशंकर गुलाठी को फोन किया तो वह मुरसान कोतवाली पहुंचे. युवती की गुमशुदगी दर्ज करायी और पुलिस को लेकर गुजरात के सुरेन्द्र नगर थाना राडपुर पहुंच गये।.वहां से युवती को अपने साथ लेकर शनिवार की रात एक बजे आ गये. मुरसान इंस्पेक्टर सत्यप्रकाश का कहना है कि मामला दर्ज कर लिया है तथा आरोपी राशिद की गिरफ्तारी जल्द ही कर ली जायेगी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...