वो बदल लेता था अपना नाम और धर्म भी.. फिर लड़कियों को दिखाता था जाकिर नाइक के वीडियो तथा लूटता था उनकी अस्मत

ये एक ऐसा मामला है जिसे सुनकर आपके रौंगटे खड़े हो जायेंगे, आपकी रूह कांप उठेगी. ये मामला उन लोगों की जुबान पर भी ताला लगा देगा तो लव जिहाद का ये कहते हुए बचाव करते हैं कि लव जिहाद कुछ नहीं होता है. नाम तो उसका दानिश था लेकिन वह नाम तथा धर्म बदलकर हिन्दू लड़कियों को अपने जाल में फंसाता था. वह हिन्दू नाम रखकर, हाथ पर कलावा बांधकर, माथे पर तिलक लगाकर हिन्दू लडकियों से पहले दोस्ती करता था, फिर उनको लव जिहाद में फंसाकर उनका शारीरिक शोषण करता. इस तरह वह एक नहीं बल्कि लगभग 10 लडकियों की जिन्दगी तबाह कर चुका था.

मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर का है जहाँ के जाजमऊ निवासी मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी के मार्केटिंग मैनेजर दानिश अली ने इंदौर में तैनाती के दौरान खुद को हिंदू बताकर दो युवतियों की जिंदगी बर्बाद कर दी. दानिश ने एक युवती से शादी की और दूसरी लड़की से सगाई कर शारीरिक शोषण किया. इसके अलावा कई और लडकियों को भी जिहादी दानिश नाम तथा धर्म बदलकर धोखा दे चुका था. दोनों पीड़ित युवतियां के द्वारा कानपुर एसएसपी को दी गयी तहरीर पर पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है.

दानिश के लव जिहाद का शिकार हुई इंदौर की  युवती ने एसपी पूर्वी राजकुमार को बताया कि 2009 में उसकी मुलाकात जाजमऊ अहमद नगर निवासी एमआर दानिश अली से हुई थी. तब दानिश ने अपना नाम जॉन सलूजा और धर्म हिन्दू बताया था. इसके बाद दोस्ती करके उसे कानपुर लाया. यहां एक मंदिर में शादी रचाई. बाद में पता चला कि दानिश हिन्दू नहीं, मुस्लिम था. उसने दो बार गर्भपात कराया. पुलिस को दी गयी तहरीर के मुताबिक़ दानिश ने पहली पत्नी को तलाक देने के बाद इंदौर के एक होटल के मैनेजर की बेटी को अपने प्यार के जाल में फंसाया.

पीड़ित युवती के मुताबिक़ दानिश उसे अपना नाम राज उपाध्याय व पता मुंबई बताकर मिला था. वर्ष 2015 में उसने शादी का प्रस्ताव रखा तो घरवाले तैयार हो गए. 2016 में उसने सगाई कर ली और लगातार शारीरिक संबंध बनाता रहा, लेकिन जब दीपावली पर किसी काम से उसका बैग देख रही थी तो उसमें दानिश नाम की आइडी मिली. तब असलियत का पता लगा. वह कहता था कि वह मूलरूप से मेरठ का है. पिता हिंदू व मां मुस्लिम है. फरवरी 2019 में उसने शादीशुदा व मुस्लिम होने की बात कहकर शादी से इन्कार कर दिया. तब इंदौर में दुष्कर्म का मुकदमा लिखाया.

पुलिस को दी गई शिकायत में युवतियों ने आगे बताया है कि दानिश उन्हें जाकिर नाइक के वीडियो दिखाता था. इसके साथ ही बगदादी के वीडियो दिखाकर इनके मन में भय पैदा करता था. मुस्लिम युवक दानिश पर यह भी आरोप है कि वह इस्लाम धर्म अपनाने के लिए दबाव डालता था. दानिश की जिहादी सोच यहीं ख़त्म नहीं होती है बल्कि पीड़ित युवतियों के मुताबिक आरोपित ने इंदौर में ही चार और युवतियों को प्रेमजाल में फंसाकर उनका शारीरिक शोषण किया. वे युवतियां भी इंदौर में मुकदमा लिखाने वाली हैं.

लिस को बताया है कि दानिश उन युवतियों से समीर दुबे, बॉबी शर्मा व अनूप दीक्षित नाम बताकर मिला था. वहीं इस पूरे मामले पर एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि दानिश नामक युवक के खिलाफ युवती ने शादी करने और दूसरी ने सगाई करने का आरोप लगाया है. पहले से ही मुकदमे दर्ज हैं, जिनकी विवेचना चल रही है. परिजनों पर धमकी देने के आरोप में रिपोर्ट लिखाई गई है, जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

Share This Post