Breaking News:

दंगों का आरोप बांग्लादेशियों पर नहीं राज्यपाल पर लगाया जा रहा है ममता के बंगाल में…

अगर आप बीजेपी के पछ में बात करते हैं तो हो सकता है आप पर धमकी देने के आरोप लग सकते है। बीजेपी के पछ में बात करने पर भक्त कहना अब पुराना हथकंडा हो गया है, अब मार्केट में नया चलन आ गया है। किसी सरकार के समर्थन में बोलना जो की भारतीय जनता के सर्वसहमति से चुनी गई, बहूमत दवारा सरकार चला रही आपके लिए हानिकारक हो सकता हैं…… हो सकता है आप पर धमकी देने के आरोप लग जाये…. आप जेल भी जा सकते हैं। ये हम नहीं कह रहे…… ये कह रही हैं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी…..
एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि राज्यपाल ‘भाजपा के प्रखंड अध्यक्ष’ की तरह बर्ताव कर रहे हैं और उन्होंने उनको धमकी दी है। ममता ने कहा कि उन्होंने (राज्यपाल) मुझे फोन पर धमकी दी। जिस तरह से उन्होंने भाजपा का पक्ष लेते हुए बात की, उससे मैंने अपमानित महसूस किया। मैंने उनसे कह दिया कि वह मुझसे इस तरह बात नहीं कर सकते हैं।
इसके आगे उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने कानून व्यवस्था पर बड़ी-बड़ी बात की, मैं यहां किसी की दया पर नहीं हूं। जिस तरीके से उन्होंने मुझसे बातचीत की, एकबार तो मैंने (कुर्सी) छोड़ने की सोची। हालांकि, राजभवन ने ममता के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से ऐसा कुछ नहीं कहा जिसे अपमानजनक माना जाए। अपितु राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति सुनिश्चित करने को कहा और इसपर वो भड़क गई। कानून व्यवस्था को सुधारना अगर धमकी है तो शायद भारत का हर नागरीक गुनहगार है।
Share This Post