Breaking News:

फिल्मकारों से बेहद नाराज हैं मेनका गांधी, सख्ती से पूछा- क्या दिखा रहे हो ये सब

नई दिल्ली : केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने देश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ती हिंसा के लिए बॉलीवुड और क्षेत्रीय सिनेमा को जिम्मेदार ठहराया है। मेनका गांधी का कहना है कि लगभग सभी फिल्मों में छेड़छाड़ को बढ़ावा दिया जाता है। फिल्मों में रोमांस की शुरुआत ही छेड़छाड़ के साथ शुरू होती है।

लड़का और उसके दोस्त लड़की के इर्द-गिर्द घुमते हैं। उसके साथ आते-जाते हैं, उन्हें गाली देते हैं, वह उसे छूता है और आखिरकार लड़की उसके प्यार में पड़ जाती है। उन्होंने कहा कि इन सारी चीजों को करने के लिए पुरुष फिल्में देखकर प्रेरणा लेते हैं। मेनका गांधी ने फिल्मकारों और विज्ञान बनाने वालों से अपील की कि वे महिलाओं की अच्छी छवि को दिखाएं।

बता दें कि मेनका ने शुक्रवार को गोवा फेस्ट 2017 में ये बात कही। वहीं, आगे कहा कि पिछले 50 सालों से फीचर फिल्मों का इस्तेमाल संदेश देने के लिए किया जा रहा है। इस माध्यम से हिंसा रहती है, हर क्षेत्रीय और हिन्दी फिल्मों में अकसर होता है।

मेनिका ने पीएम मोदी की योजना बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं वाली योजना को बिहार और जम्मू-कश्मीर को छोड़ कर पूरे देश में चलाना चाहिए। उनका कहना है कि जम्मू-कश्मीर में लोगों के माइंडसेट के कारण यह योजना सफल नहीं हो पाया। गौर हो कि बिहार में लगातार प्रशासनिक फेरबदल होने के कारण वहां भी यह योजना सफल नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि बिहार में जिलाधिकारियों का हर तीन महीने में तबादला होता रहता है और ऐसे में कोई इस योजना को बढ़ावा नहीं दिया।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW