“फारुख अब्दुल्ला हज करने बिहार क्यों नहीं जाते” … श्रीराम मंदिर विरोधी अब्दुल्ला को मनोज तिवारी का मृदुल जवाब

अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर देशभर में सियासी घमासान मचा हुआ है. आरएसएस, विहिप, बजरंग दल, शिवसेना सहित तमाम हिन्दू संगठन केंद्र की मोदी सरकार पर कानून बनाकर श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए दवाब बना रहे हैं. श्रीराम मंदिर हो रही सियासी बयानबजी के बीच जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री तथा नेशनल कांफ्रेंस चीफ फारुख अब्दुल्ला के एक बयान पर भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष तथा लोकसभा सांसद मनोज तिवारी ने निशाना साधा है.

मनोज तिवारी ने फारुख अब्दुल्ला पर निशाना साधते हुए कहा है कि फारुख अब्दुल्ला को हज करने सऊदी अरब नहीं बल्कि बिहार जाना चाहिए. बता दें कि इससे पहले फारुख अब्दुल्ला ने कहा था कि राम तो हर जगह है फिर अयोध्या में मंदिर क्यों बने, मंदिर तो कहीं भी बन सकता हैं. अब्दुल्ला के इसी बयान पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि ऐसे लोग शांति के दुश्मन हैं. मनोज तिवारी ने कहा कि फारुख अब्दुल्ला हज करने के लिए सऊदी अरब क्यों जाते हैं अल्लाह तो हर जगह है. फिर वो बिहार के मोकामा में क्यों नहीं जाते वहां भी एक बहुत पुरानी मस्जिद है. मनोज तिवारी ने कहा कि जहां भगवान श्री राम की जन्मभूमि है मंदिर वहीं बनेगा.

बता दें कि मनोज तिवारी ने विहिप नेताओं से भी मुलाक़ात की. विश्व हिंदू परिषद के नेताओं ने मनोज तिवारी को ज्ञापन देकर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए सरकार से संसद में कानून बनाने की मांग की। विश्व हिंदू परिषद के नेताओं से मिलने के बाद मनोज तिवारी ने कहा कि राम मंदिर की मांग सत समाज 1528 से कर रहा है. तिवारी ने कहा कि वो राम मंदिर के मुद्दे को संसद से लेकर पार्टी के फोरम में उठाएंगे ताकि अब काम में और ज्यादा देरी न हो. तिवारी ने दावा किया अगर जरुरत पड़़ी तो वो राम मंदिर मुद्दे पर संसद में प्राइवेट मेंबर बिल लेकर भी आएंगे.

Share This Post