Breaking News:

बरामद हो रही हैं छिपा कर रखी गयी AK 47 रायफलें . अब तक तनवीर, शमशेर और इमरान का आया नाम


न जाने कौन था उनके निशाने पर . आखिर क्यों और किस के लिए  जमा कर रहे थे वो इतने घातक हथियारों का जखीरा . क्यों खत्म कर देना चाह रहे थे वो समाज की शांति और स्थिरता को . कौन थे उनके निशाने पर , इन सभी सवालों का जवाब बिहार की उस मुंगेर पुलिस के पास मिलेगा जिसने समय रहते ऐसे दुर्दांत अपराधियों को दबोच लिया जो किसी बहुत ही गन्दी नीयति से जमा कर के रख रहे थे दुनिया के सबसे घातक हथियारों में गिने जाने वाले AK 47 का जखीरा .

ज्ञात हो कि बिहार पुलिस की सक्रियता के चलते वहां के मुंगेर जिले के विभिन्न क्षेत्रों से अवैध बंदूकें एके-47 मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। एक कड़ी को खोज निकाल कर पूरे नेटवर्क को ध्वस्त करती मुंगेर पुलिस ने गुरुवार रात मुफसिल थाना क्षेत्र के बरदह गांव के एक कुएं से 12 एके-47 बरामद किए हैं। बिहार पुलिस के अनुसार, बरहद गांव में पहले भी एके-47 मिलने के मामले में पुलिस जांच में जुटी थी। इस दौरान पुलिस ने झारखंड के हजारीबाग से तस्कर तनवीर को गिरफ्तार किया।

तनवीर से हुई पूछताछ के बाद बिहार पुलिस ने गुरुवार रात बरदह गांव के एक कुंए से 12 एके-47 राइफल बरामद की। ये सभी राइफलें एक बोरे में रखी गई थीं।मुंगेर के पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने बताया कि इन सभी हथियारों की तस्करी के तार जबलपुर (मध्य प्रदेश) से जुड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि 29 अगस्त को मुंगेर के जमालपुर में शमशेर और उसके साले इमरान के पास से पकड़ी गई तीन एके-47 के बाद इस पूरे मामले का भंडाफोड़ हुआ था। उन्होंने बताया कि मुंगेर जिले में इसके बाद से अबतक 20 एके-47 बरामद कर लिए गए हैं। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है और कई अन्य स्थानों पर अभी भी छापेमारी जारी है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share