कभी मोदी के टुकड़े टुकड़े करने की धमकी देने वाले को कांग्रेस ने फिर से दिया टिकट. जानिए कौन है वो और कहाँ से ?

अगर कांग्रेस के उच्च पदाधिकरियो की चर्चा की जाय तो उनके मुह पर गांधी की बातें , गांधी का नाम , मंच पर गांधी की फोटो और शब्दों में अहिंसा आदि प्रमुखता से होता है . उनके हिसाब से हिंसक केवल वो ख़ास वर्ग होता है जो उनके कथन में फिट नहीं बैठता है . जैसे कि सिद्धारमैया को तिलक लगाने वालों से डर लगता है , राहुल गाँधी कभी लश्कर से ज्यादा खतरा हिन्दू संगठनो से देश को बताते हैं और शिंदे भगवा आतंकवाद कहते हैं .

लेकिन उनके नीचे के नेताओं की बदजुबानी और भी ज्यादा चौंकाने वाली होती है . अभी कुछ दिन पहले कर्नाटक के एक कांग्रेस नेता ने खुल कर भरी सभा में मोदी को मार देने का एलान करते हुए वहां मौजूद लोगों से सवाल किया था कि वो मोदी को क्यों नहीं मार देते .. लेकिन अब वो तमाम बातें खुल कर सामने आनी शुरू हो गयी है और कांग्रेस के हाई कमान ने उस व्यक्ति को अपना लोकसभा का प्रत्याशी बना दिया है जिसने कभी खुल कर मोदी के टुकड़े टुकड़े काटने की धमकी दी थी .

ये महाशय हैं सहारनपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी इमरान मसूद . इनका उधर बोलबाला चलता है और कहना गलत नहीं होगा कि उनकी धाक भी है उधर . इन्होने सहारनपुर में हिंसा फैलाने वाली और हिन्दुओ को जातिवाद में तोड़ने का कुचक्र रचने वाली भीम आर्मी का खुल कर समर्थन किया था . इतना ही नहीं ये खुल कर भीम आर्मी के प्रमुख रावण से भी मिले थे . अब वही इमरान मसूद बनाये गये हैं सहारनपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी जिन्होंने पिछले चुनावों से पहले खुल कर सार्वजानिक मंच से नरेन्द्र मोदी के टुकड़े टुकड़े काट देने की धमकी दी थी . सवाल ये उठता है कि क्या यही है कांग्रेस का अहिंसावादी मार्ग ?

Share This Post